• काशी के इस एस्ट्रोलॉजर ने जताई मई के अंतिम दिनों में प्रलयंकारी भूकंप की संभावना!

    Dheeraj Rai

    वाराणसी। ज्योतिषीय गणना को आधार बनाकर भूकंप की सटीक भविष्यवाणी, अविश्वसनीय सच है। वैसी एकाधिक भविष्यवाणी कर चुके आचार्य ऋषि द्विवेदी के अनुसार अगले मई महीने के अंतिम चार दिन भारत सहित कुछ अन्य क्षेत्रों के लिए बेहद खतरनाक हो सकते हैं। उन्होंने 28 की शाम 4.40 से 31मई की भोर 2.28 तक के समय को खतरनाक भूकंपीय योग वाला बताया है।

    आचार्य ऋषि द्विवेदी द्वारा तैयार किया गया जन्मांग।

    आचार्य द्विवेदी ने नारदीय संहिता के मयूर चित्रक का उल्लेख करते हुए उसमें ज्योतिष व मौसम विज्ञान के वर्णन में वर्षा, झंझावात, उल्कापात, महामारी, दैवीय प्रकोप व भूकंप योग की जानकरी दिया। बताया कि ग्रह योग में होने वाले परिवर्तन के फलस्वरुप भूमिपुत्र मंगल जब भी पीड़ित होता है या षडाष्टक योग बनाता है तब विनाशकारी भूकंप की संभावना बढ़ जाती है।

    आचार्य द्विवेदी ने बताया कि 24 अप्रैल से 4 जुलाई तक वृहस्पति व शनि एक साथ वक्री होंगे। इसी दौरान मंगल 1-2 मई की मध्यरात्रि में धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेगा। अमूमन एक से डेढ़ महीने तक एक राशि में रहने वाला मंगल 31 अक्टूबर की रात 8.24 बजे तक 6 महीने मकर राशि में रहेगा। उनके अनुसार यह ग्रह योग भूकंपीय स्थिति को बेहद खतरनाक ढंग से प्रभावित करेंगे। उन्होंने इस भूकंपीय योग का प्रभाव क्षेत्र भारत सहित उसके उत्तर व दक्षिण दिशा तक बताया है।

    ज्योतिषीय गणना पर भरपूर विश्वास जताने वाले आचार्य द्विवेदी इससे पूर्व नेपाल व दिल्ली में आए भूकंप की समय पूर्व शत प्रतिशत सही जानकारी दे चुके हैं। उन्होंने 2015 में नेपाल में आए भूकंप की जानकारी पहले ही अखबारों को दे दिया था। वही हाल 31 जनवरी, 2018 को दिल्ली में आए भूकंप के बाबत रही। दिल्ली में आए भूकंप की जानकारी भी समय से पहले समाचार पत्र में प्रकाशित हो चुकी थी। उन्होंने लोगों से इस अवधि में शिव-आराधना का अनुरोध किया है।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!