Health Varanasi धर्म-कर्म 

81 दिन बाद माता अन्नपूर्णा ने दिया भक्तों को दर्शन, Covid-19 से बचाव के लिए मन्दिर परिसर में की गई ये व्यवस्था

Varanasi : धर्म की नगरी काशी में लगभग ढाई महीने के बाद श्री काशी विश्वनाथ सहित आधा दर्जन देवालयों को जिला प्रशासन की अनुमति मिलने के बाद खोला गया। इन मंदिरों में जिला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। इन मंदिरों द्वारा पहले चेक लिस्ट भरी गई और निरीक्षण के बाद इन्हें खुलने की अनुमति दी गई। जिसमें माता अन्नपूर्णा का दरबार भी शामिल है। 81 दिन के लम्बे अंतराल के बाद माँ भगवती नर भक्तों को दर्शन दिया। माता का दर्शन पाकर भक्त प्रफुलित हो उठे।

महंत रामेश्वर पूरी ने बताया कि कोविड-19 से बचाव का पूरा ध्यान मन्दिर परिसर में रखा जा रहा है। मन्दिर गेट पर लगे आटोमेटिक सेनेटाइज मशीन से हैंड सेनेटाइज करवाने के बाद भक्तों की थर्मल सिकैनिंग हो रही और उसके बाद उन्हें दर्शन के लिए मन्दिर के अंदर भेजा जा रहा है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने के लिए 6-6 फिट की दूरी पर गोले बनाये गए है और एक बार पांच ही भक्तों को दर्शन करने की अनुमति है। इसके साथ ही किसी भी विग्रह प्रतिमा या घंटी को छूना प्रतिबंधित है। सभी आरती से पूर्व मंदिर परिसर को पूरी तरह से सेनेटाइज किया जा रहा।

इन देवालयों में भी दर्शन शुरू

काशी विश्वनाथ मंदिर, माता अन्नपूर्णा मठ मन्दिर के साथ वाराणसी में बाबा कीनाराम, दशाश्वमेध स्थित श्री गुरु बृहस्पति, तिलभांडेश्वर महादेव, गौरी केदारेश्वर, शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर शामिल हैं।

error: Content is protected !!