• Ayodhya verdict : बनारस में चप्पे-चप्पे पर तैनात थी पुलिस, अधिकारी करते रहे चक्रमण, शहर से लगायत देहात तक टहलती रही फोर्स

    वाराणसी। अयोध्‍या के फैसले के लेकर बनारस में काफी सर्तकता रही। लोग शनिवार की सुबह से जरूरी सामान जुटता दिखे। कई जगहों पर काफी सन्‍नाटा दिखा। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी सुबह से ही क्षेत्रों में भ्रमण कर स्थिति पर नजर रखे हुए थे। हालांकि एहतियात के तौर पर सभी स्कूल-कालेज व कार्यालय में तीन दिन के लिए अवकाश घोषित कर दी गई है। लोग सुबह से ही टीबी चौनलों को खोलकर खबरों की जानकारी ले रहे थे। प्रमुख क्षेत्रों में संभ्रांतजनों के साथ पुलिस व प्रशासनिक अफसर भ्रमण करके लोगों से शांति की अपील कर रहे थे।

    अयोध्या के आने वाले फैसले से पूर्व ही जिले में अघोषित कर्फ्यू जैसी स्थिति शहर से लेकर ग्रामीण अंचल की बाजारों में सुबह से ही बनी हुई थी। मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में रात से ही पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई थी। वहीं अयोध्या के आने वाले फैसले को लेकर सभी की निगाहें टिकी हुई थीं। मंडलीय अस्पताल से लेकर सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर भी किसी अनहोनी घटना से निबटने की तैयारी कर ली गई थी। मंडलायुक्त, एडीजी, जिलाधिकारी, एसएसपी सहित अन्य अधिकारी लोगों से घूम-घूमकर अमन-चैन बनाए रखने की अपील कर रहे थे। लोगों को अफवाहों से बचने की हिदायत दे रहे थे। रोडवेज व रेलवे स्टेशन सहित भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सुरक्षा सख्त कर दी गई थी। सुरक्षा की दृष्टि से आईटीबीपी, आरएएफ, पीएसी की एक-एक कंपनी फोर्स के अलावा पांच हजार से अधिक पुलिस जवान, चौकीदार व ग्राम सुरक्षा समिति के लोगों को भी तैनात कर दिया गया था।

    अयोध्या पर आने वाले फैसला को लेकर पुलिस व जिला प्रशासन अलर्ट हो गया था। किसी तरह की कोई बात न हो इसे लेकर सक्रियता बढ़ा दी गई थी। स्कूल-कालेज बंद थे। इसके साथ ही जनपद के बाजारों में दुकानें भी सामान्य दिनों की अपेक्षा कम खुली थीं। रेलवे स्टेशन, बस अड्डे के साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा व्यवस्था चौकस रही।

    स्कूल-कालेज व कोचिंग सभी शिक्षण संस्थान बंद थे। सामान्य से कम दुकानें खुली थी। आवाजाही सामान्य थी। पुलिस चौराहों पर तैनात थी। पुलिस चौराहे व बाजार में चप्पे-चप्पे में लगी थी। सभी क्षेत्रीय कर्मचारी अपने-अपने तैनाती स्थल पर लगे हुए थे। कुछ जगहों पर दुकानें सामान्य तौर पर खुलीं। पुलिस जगह-जगह बाजारों में घूमती रही और लोगों से फोन कर क्षेत्र की जानकारी जुटा रही है। कई जगह पर रूट मार्च निकाल शांति व सौहार्द की अपील की गई। इस दरमियान नगर की दुकानों को बंद करवाकर धारा 144 लगने की जानकारी दी जा रही थी। नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जगह-जगह पुलिस बल तैनात थी।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!