• #बतकहीबाज : कॉकटेल! जिसने शो ऑफ नहीं किया, उसने किया क्या?

    Vinay Kumar Pandey
    व्यंग्य

    नजदीक से मुझे जानने वाले लोगों को पता है, मैं देर रात तक काम करता हूं। काम मतलब लिखंत-पढ़ंत, आप क्या सोच रहे थे? मेरे करीबियों का कॉल मुझे सुबह नौ बजे के बाद आना शुरू होता है। बात इतर है, आवश्यकता पड़ने पर कभी भी मुझे कॉल किया जा सकता है। रोज की तरह रात में काम खत्म करने के बाद सोया हुआ था। एट मॉर्निंग कॉल बेल बजी। दरवाजा खोलने पर पता चला, मेरे पड़ोस में रहने वाले सोशल वर्कर कम नेता अधिक टाइप एक सज्जन मुझसे मिलना चाहते हैं। मिलने की जिद्द कर रहे हैं। न चाहते हुए भी चैन से सोना छोड़कर मुझे जागना पड़ा।

    ब्लैक जींस पर टीशर्ट

    घर आया शख्स ऊपर वाले की तरह होता है। घर के लोगों ने उन्हें बैठाया, चाय-नाश्ता दिया। सामने चाय-नाश्ता पड़े होने के बावजूद वह अपने आपको मथ रहे थे। जब मैं पहुंचा, उन्होंने कहा अपने लिए मैं ड्रेस सेलेक्ट नहीं कर पा रहा हूं। प्लीज, मदद करिए, चैन भरी नींद छोड़कर आने के बाद उनकी बात सुनकर मैं सन्न रह गया। पड़ोसी ने कहा, मुझे पार्टी के एक अभियान में जाना है। मेरे लिए ऐसी ड्रेस बताइए जो मुझे बिल्कुल अलग प्रदर्शित करे। वह अपने साथ चार जोड़ी कपड़ा भी लाए थे। पिंड छुड़ाने के लिए मैंने बताया, आप ब्लैक जींस पर कॉकटेल कलर टीशर्ट पहन लीजिए।

    टिकट का हकदार

    कॉकटेल कलर टीशर्ट का नाम उन्होंने कभी सुना नहीं था, अब भकुआने की बारी उनकी थी। उनको समझाया कॉकटेल मतलब, रंग बिरंगी टीशर्ट। उन्होंने कहा, हर अभियान में अलग दिखना चाहिए, फोटोग्राफ्स और वीडियो क्लिप पार्टी कार्यालय में जमा करने पड़ते हैं। सबसे अलग नहीं नजर नहीं आऊंगा तो कल के दिन टिकट का हकदार कैसे होऊंगा? कपड़े का कांबिनेशन उन्हें समझाने के बाद मैं सोच रहा था… अपने लाइफ में जिसने शो ऑफ नहीं किया, उसने किया क्या?

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *