• #बतकहीबाज : कलर चेंजिंग कला! रंग बदलने पर कॉपीराइट वाली बात गलत है

    Vinay Kumar Pandey
    व्यंग्य

    मजरा इस दफा जरूरत से ज्यादा संजीदा है। गिरगिट ने कहा, मौजूदा दौर में लोग हमारी तुलना नेताओं से करने लगे हैं। ऐसा करना गिरगिटों का अपमान है। कहा, हम लोग इसका विरोध करेंगे। धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। रंग बदलने की कला पर हमारा कॉपीराइट है। अगर नेता लोग नहीं माने तो मामला कचहरी तक ले जाया जाएगा। बताया, हम लोगों की बहुत बेज्जती हो गई। अब अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे।

    बात लीक हो गई

    दीवारों के भी कान होते हैं। लिहाजा, गिरगिट की यह बात लीक हो गई। जानकारी नेताओं को हुई तो हड़कंप मच गया। नेताओं ने कहा, अगर गिरगिट हमारे खिलाफ सड़क पर उतर गए तो बहुत किरकिरी होगी। वक्त-बेवक्त दल बदलने के साथ कलर चेंजिंग की कला में पारंगत एक नेता ने डरे हुए अपने साथियों को समझाया। बताया, रंग बदलने पर कॉपीराइट वाली बात गलत है।

    रास्ते से नहीं भटकना है

    गिरगिट की चुनौती से बिना डरे जानकार वाले नेता का कहना था, उन्हें रोड पर उतरना है तो उतर जाएं, हम लोगों को रास्ते से नहीं भटकना है। राजनीति में आने का हमारा जो मकसद रहा है, उसको हमें नहीं भूलना चाहिए। कहने लगे, जिसे शर्म आती हो वह राजनीति छोड़ दे। जानकार वाले नेता की बात सुन और समझकर सहमे नेताओं के जान में जान आई। क्या समझें?

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *