• #बतकहीबाज! …और वह बीबी से छिपकर कई जीबी डेटा की आहुति देता है

    Vinay Kumar Pandey

    व्यंग्य

    हर इंसान अपने लाइफ में फेमस होना चाहता। नाम के साथ पैसा कमाना चाहता है। नेता लोग भले ही आम आदमी की टोपी पहन कर लोगों को टोपी पहनाएं लेकिन आम आदमी हमेशा से आम न रहकर, खास बनना और दिखना चाहता है। खास दिखने की ये आस सदियों से चली आ रही है। इंसान का अहम हमेशा उसे वहम में रखता है कि उसका जन्म नहीं बल्कि अवतार हुआ है। शायद! वह सोचता है, कुछ साधारण कर जीवन व्यर्थ करने का कोई अर्थ नहीं है।

    महिमा अपरंपार

    फेसबुक, व्हाट्सएप और टि्वटर तीनों माध्यम प्रसिद्धि कोे आसानी से उपलब्ध कराते हैं, सही समझें! दरअसल बात हो रही है उसी आम आदमी की जिसको उसके मोहल्ले, सोसाइटी या गांव का ‘चौकीदार’ भी होली- दीपावली सहित अन्य त्योहारों पर बख्शीश लेने के अलावा कभी नहीं पहचानता। रियल वर्ल्ड की तरह ही सोशल मीडिया के सेलेब्रिटीज के भी फैन होते हैं। वास्तविक जीवन के सेलिब्रिटीज अपने प्रशंसकों को ऑटोग्राफ दे कर, उनके साथ तस्वीर खिंचवाकर उनको खुश करते हैं। बात इतर है, सोशल मिडिया के सेलिब्रिटीज जरूरत से ज्यादा बिजी रहते हैं। ऐसे लोगों की महिमा अपरंपार होती है। सोशल साइट के सेलिब्रिटी से मुलाकात करने के लिए सोशल साइट का ही सहारा लेना पड़ता है।

    ताकत का अहसास

    सोशल मीडिया के सेलिब्रिटीज वक्त-वक्त पर शक्ति प्रदर्शन भी करते हैं। मकसद साफ है! ताकि बाकि लोगों को अपनी ताकत का अहसास कराते रहें। ये वाला शक्ति प्रदर्शन अपनी पोस्ट्स पर ज्यादा से ज्यादा लाइक, कमेंट, शेयर्स के जरिए किया जाता है। लाइक, कमेंट, शेयर्स वो सीढ़ी है जिस पर चढ़कर कॉमन पर्सन प्रसिद्धी की ऊंचाइयों को हासिल करता है। …और इसके लिए वह बीबी से छिपकर कई जीबी डेटा की आहुति देता है। सोशल मीडिया के योद्धा जब अपने बहुतेरे लाइक वाली पोस्ट पर किसी कमेंट का रिप्लाई करते हैं तो शब्दों का ऐसा मायाजाल रचते हैं, मानो कमेंट न कर लाखों लोगों की सभा को संबोधित कर रहे हों। क्यों, ऐसा ही होता है?

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!