Exclusive एडिटोरियल बड़ी बोल 

Mother’s Day 2020 : कौन समझाए! मां को शुक्रिया कहने का कोई दिन नहीं होता बंधु, नहीं भी कहोगे तो वो खफा नहीं होंगी

Mother s Day 2020 Who should explain There is no day to say thank you to the mother, brothers, even if you say they will not be upset

और पढ़ें।
बड़ी बोल 

व्यंग्य : तब जाकर कई जन्मों के बाद मूर्खात्य की उपाधि उसे इस जन्म में मिलती है, वह भी कड़े कंपटीशन के बाद

Satire After several lifetimes, he gets the title of idiocy in this birth, that too after tough competition

और पढ़ें।
बड़ी बोल 

#बतकहीबाज : हाल के साथ चाल पूछा, बताया गुटखे में Calcium है

व्यंग्य हां, आप वाजिब सोच रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में गुटखा बैन कर दिया है। बावजूद इसके, गाढ़े-सकेते कहीं न कहीं गुटखा मिल ही जा रहा है। दरअसल, बनारस के गोलघर वाली अड़ी पर दो गुटखाबाज आपस में टकरा गए। बात निकली तो बहुत दूर तलक चली गई। हाल के साथ चाल पूछने से शुरू हुई औपचारिकता ‘गुटखा खाने के फायदे’ नामक रिसर्च को पूरी करने के बाद खत्म हुई। पता नहीं आपको मालूम है या…

और पढ़ें।
बड़ी बोल 

#बतकहीबाज : वह आज के दौर में अज्ञानी कहलाता है, नहीं?

व्यंग्य हमेशा की तरह इस दफा भी बात थोड़ी खर्री है। हो सकता है मेरे कई अपने खफा हो जाएं! विश्वास करिए, इस व्यंग्य का आप से कोई सरोकार नहीं है! याद होगा! अपने पिछले व्यंग्य की कड़ी में मैंने लिखा था ‘मिस्ड कॉल! भूत, भविष्य, वर्तमान तीनों काल दोनों भूल जाते थे’। स्पष्ट किया था, एक सज्जन मेरे परिचित हैं, उनको दोस्त नहीं कहूंगा, बस मेरे जानने वाले हैं। पढ़ा होगा आपने! इस दफा आपको अपना मित्र बता रहा हूं। मेरा मित्र होने का मतलब बुझा रहा है न?…

और पढ़ें।
error: Content is protected !!