Health Varanasi 

Corona Warriors : मजदूरों के भूखे होने की जानकारी पर पहुंचे CRPF Commandant, रोजमर्रा की चीजें कराई उपलब्ध

Varanasi : श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात सबसे बड़ा अर्द्ध सैनिक बल सीआरपीएफ की 95वीं बटालियन लॉकडाउन ने पहले दिन से ही शहर और देहात में राहत काम जारी रखा है। जरूरतमंदों को राशन पहुंचाने के साथ इलाकों को रसायन छिड़काव करना, लोगों की कॉन्टैक्टलेस थर्मल स्कैनिंग कराना, सेनिटाइजर, साबुन, कॉटन मॉस्क , हैंड ग्लव्स का वितरण, कोविड-19 के बारे में लोगों को जागरुक करना तथा इससे बचाव के लिए एहतियात बरतना के संबंध में लोगों को अवगत कराना मुख्य काम है।

बटालियन के कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह कोविड-19 के संक्रमण काल में अपने सेवा समर्पण और कर्तव्य परायणता से मिसाल पेश कर रहे हैं। अपनी मां के देहांत के बाद भी वह जनसेवा तथा देश सेवा में समर्पण भाव से लगे हुए हैं।

शिवाजी नगर की रहने वाली सरकारी स्कूल की एक अध्यापिका ने कुछ दिनों तक प्रवासी मजदूरों की खूद से मदद पहुंचाई परंतु जब उन्हें लगा कि अब मदद करना संभव नहीं है तो उन्होंने कमांडेंट को अपने किसी परिचित के माध्यम से खबर भिजवाया। बताया, प्रवासी मजदूरों की हालत अत्यंत दयनीय हो गई है इन्हें राशन अविलंब पहुंचाया जाना अत्यावश्यक है। मामला संज्ञान में आया। स्वयं कमांडेंट द्वारा 15 प्रवासी महिला मजदूरों को पर्याप्त मात्रा में राशन उपलब्ध कराया गया।

बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी सुरेश कुमार मिश्रा के नेतृत्व में रोहित नगर, उदयराजपुर, शांतिपुरम के इलाके में सोडियम हाइपोक्लोराइट रसायन छिड़काव किया गया। दूसरी तरफ बटालियन के उप कमांडेंट महेंद्र कुमार मिश्रा के नेतृत्व में श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर, अन्नपूर्णा माता मंदिर, तथा आसपास के इलाकों में सोडियम हाइपोक्लोराइट रसायन के छिड़काव किया गया। 390 लोगों की कांटेक्ट लेस थर्मल स्कैनिंग भी कराई गई।

error: Content is protected !!