• डीरेका रावण दहन : अधर्म पर धर्म की जीत, जला दशानन का 70 फिट का पुतला

    मेघनाथ और कुम्भकरण भी जलकर स्वाहा
    
    काशी में धूमधाम से मनाया गया विजयादशमी का पर्व

    वाराणसी। डीजल रेल इंजन कारखाना के केंद्रीय मैदान में मंगलवार को विजय दशमी का त्योहार मनाया गया। इस मौके पर रामचरित मानस पर आधारित मूक रामलीला हुई। इस रामलीला में डीरेका परिसर स्थित स्कूलों के बच्चों ने भाग लिया। लीला का मंचन होने के बाद शाम को निर्धारित वक्त पर 70 फीट ऊंचे रावण, 65 फीट ऊंचे कुभकरण और 60 फीट ऊंचें मेघनाद के पुतले में आग लगाई गई। इस मौके पर जम कर आतिशबाजी हुई।

    इससे पूर्व सायं 04:00 बजे से डीरेका स्टेडियम (केंद्रीय खेलकूद मैदान) में विजयादशमी समारोह का आयोजन शुरू हुआ। इसके अंतर्गत रामचरित मानस पर आधारित अति रोचक रूपक प्रस्तुत किया गया। फिर रावण, कुम्भकरण एवं मेघनाद के विशालकाय पुतलों का दहन हुआ। रावण के पुतले को दो सौ मीटर दूर बने मंच से आग का गोला जाकर रावण की नाभी में लगागा और वह जल उठा। आकर्षक आतिशबाजी भी हुई। विख्यात रावण दहन देखने के लिए दर्शकों की भारी भीड़ उमड़ी रही। इस दरमियान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। इसके साथ ही मलदहिया, गुरुधाम, गांधी चौक खोजवा, भोजूबीर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भी रावण दहन किया गया और धूम-धाम से विजदशमी मनाई गई।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!