• दीपों की अनंत श्रृंखला का होगा दीदार, पुलिस के शहीद जवानों को समर्पित होगी इस बार की देव दीपावली- बाबू महराज

    वैदिक परंपराओं के मुताबिक मंगलाचरण के साथ किया जाएगा शुरुआत
    
    
    51 लीटर दूध से रुद्राभिषेक किए जाने के साथ घाट की सीढ़ियों और मढ़ी पर मां गंगा की होगी महाआरती

    वाराणसी। कर्तव्यों को सिर का ताज बनाने वाले राज्य पुलिस के शहीद जवानों के सम्मान में समर्पित कार्तिक पूर्णिमा की शाम और दीपों की अनंत श्रृंखला का दीदार इस बार देव दीपावली पर होगा। जानकारी देते हुए गंगोत्री सेवा समिति (प्राचीन दशाश्वमेध घाट) के संस्थापक अध्यक्ष पंडित किशोरी रमन दुबे ‘बाबू महराज’ ने रविवार को समिति के कार्यालय में खबरनवीसों से बताया कि 29वें वर्ष में इस बार देव दीपावली की शुरुआत वैदिक परंपराओं के मुताबिक मंगलाचरण के साथ किया जाएगा। शास्त्रोक्त विधि से पूजन के बाद मां गंगा की 51 लीटर दूध से रुद्राभिषेक किए जाने के साथ घाट की सीढ़ियों और मढ़ी पर मां गंगा की महाआरती होगी। गंगा तट पर मां गंगा के अष्टधातु की 180 किलो की प्रतिमा का विशेष श्रृंगार देशी-विदेशी फूल के समावेश से होगा।

    केदार घाट पर कराई जाएगी तीन आरती

    उन्होंने बताया कि दूसरी तरफ केदार घाट की सीढ़ियों पर तीन आरती संपन्न होगी। इसी दिन राज्य पुलिस के शहीद हुए जवानों की याद में अश्विन पूर्णिमा 13 अक्टूबर से जल रही आकाशदीप का समापन भी होगा। देव दीपावली के साथ बनारस के युवा गायकों में कमलेश शुक्ला और अर्चना म्हस्कर अपने सुर को साज देंगे।

    मंत्री नीलकंठ तिवारी होंगे मुख्य अतिथि

    आयोजन में मुख्य अतिथि राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महामंडलेश्वर संविदा नंद सरस्वती करेंगे। अति विशिष्ट अतिथि के रूप में अतुल कुमार गोयल (प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी निदेशक यूको बैंक) होंगे। जानकारी देते वक्त मुख्य रूप से कन्हैया त्रिपाठी, शांतिलाल जैन, गंगेश्वर धर दुबे, दिनेश शंकर दुबे, संकठा प्रसाद, दिलीप गुप्ता, रामबोध सिंह सहित अन्य लोग थें।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!