Varanasi 

Lockdown 4.0 : ट्रेन से घर लौट रही गर्भवती को उठा दर्द, पति ने मदद की लगाई गुहार और…

Varanasi : लॉकडाउन 4.0 लागू होने के बाद सरकार ने प्रवासी श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं। भारी तादात में प्रवासी श्रमिक अपने घर लौट रहे हैं। मुंबई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से गाजीपुर लौट रही प्रसूता ने शनिवार को बिटिया को जन्म दिया। मौजूद लोगों ने ईश्वर का शुक्रगुजार होते हुए कहा कि इतनी परेशानी के बावजूद उनके घर खुशी आई है।

दरअसल, लाइन बाजार (जौनपुर) निवासिनी प्रसूता अपने पति के साथ घर लौट रही थी। शनिवार को प्रयागराज पहुंचने पर महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी। ट्रेन जब लोहता रेलवे स्टेशन पहुंची तो कुछ समाजसेवी खाना-पानी बांट रहे थें। प्रसूता के पति ने आपबीती बताते हुए मदद की गुहार लगाई। समाजसेवियों ने मौके पर डॉक्टर बुलाया। डॉक्टरों ने महिला को अस्पताल ले जाने की बात कही।

लोगों की मदद से प्रसूता को अस्पताल पहुंचाया गया। कुछ समय बाद ही उसने एक बच्ची को जन्म दिया। डॉक्टरों के मुताबिक जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं। पति-पत्नी भी दोनों बहुत खुश हैं। दोनों ने सही समय में चिकित्‍सकीय सेवा मिल जाने पर आभार प्रकट किया। लोहता क्षेत्र में डाक्‍टर व स्थानीय लोगों की काफी सराहना हो रही है।

10 मिनट के लिए खड़ी हुई थी ट्रेन

लोहता के स्टेशन अधीक्षक बीबी मिश्रा ने बताया कि 10 मिनट के लिए गाड़ी खड़ी हुई थी। यात्रियों को खाने-पीने का सामान कुछ लोग बांट रहे थे तभी सामान बांट रहे लोगों को पता चला कि एक महिला की डिलीवरी होनी है। उसे काफी तेज दर्द हो रहा है। स्थानीय लोगों ने डाक्‍टर को बुलाया। स्टेशन के पास ही एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। महिला ने बच्ची को जन्म दिया।डॉ. प्रदीप कुमार सिंह, डॉ. पिंकी पटेल व सहयोग में प्रतीक कुमार पांडेय, शिवम मिश्र, मुन्ना पटेल, नवनीत पटेल, आशीष पटेल को दंपत्ति ने शुक्रिया कहा।

error: Content is protected !!