Crime Exclusive Varanasi 

गायब एमबीबीएस छात्र प्रकरण : तंत्र-मंत्र के फेर में भटक तो नहीं गया नवनीत परासर!

Varanasi: बीएचयू से एमबीबीएस कर रहा मोहम्मदपुर, गोपालगंज (बिहार) का रहने वाला नवनीत परासर अपने हॉस्टल से 9 जून को बुलट बाइक लेकर निकला। वापस नहीं लौटा। दोस्तों ने उसकी तलाश शुरू की। लंका पुलिस को सूचित किया। पुलिस तलाश में जुटी थी। इसी बीच, बुधवार को वो आखिरी बार मां विंध्यवासिनी के दरबार में देखा गया। विंध्याचल थाना प्रभारी ने बताया कि बनारस पुलिस से ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है। एक लावारिस बुलट विंध्याचल मंदिर के पास मिली थी। डिटेल निकाली गई। किसी तरह उसके दोस्तों से संपर्क कर उन्हें पहचान के लिए बुलाया गया।

बताया, दोस्तों द्वारा दी गई जानकारी के बाद मंदिर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की गई। लापता छात्र नवनीत दिखा। उन्होंने बताया, उसने मंदिर के पास अपनी बुलट खड़ी की, मंदिर की सीढ़ियों पर चाबी रखी। बाहर से ही दर्शन कर अपनी बुलट वहीं छोड़कर पैदल गलियों की तरफ चला गया। नवनीत की बुलट हमारे कब्जे में है। मामले को संदिग्ध मानकर जांच की जा रही है। तलाश जारी है।

अघोरी से संपर्क!

थाना प्रभारी विंध्याचल ने बताया कि दोस्तों ने पूछताछ में पता चला है कि नवनीत पढ़ने में मेघावी था। कुछ महीनों से उसके व्यवहार काफी बदलाव आ गया था। तकरीबन दो महीने पहले किसी अघोरी या साधक के संपर्क में लापता छात्र आ गया था। पुलिस के मुताबिक, वह कहता था कि अब संसार व सांसारिक वस्तुओं से मोहभंग होने लगा है। मन करता है कही दूर चला जाऊं। दोस्तों ने संभावना जताई कि हो सकता वह उसी अघोरी के फेर में आकर किसी पहाड़ी पर चला गया हो।

करने लगा था दान

दोस्तों ने पुलिस को बताया कि नवनीत अपना सामान जैसे मोबाइल, पैसा आदि बांट रहा था, पूछने पर कहे दान दे रहा हूं। मोटर साइकिल भी दान देने की कोशिश की थी। अनुमान लगाया जा रहा है कि वह पैदल ही किसी एकांत स्थान पर साधना के लिए चला गया है। फिलहाल यह रहस्य का विषय बना हुआ है।

साझा रूप से करेंगे तलाश

विंध्याचल थाना प्रभारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद वाराणसी पुलिस से संपर्क किया गया है। जैसे ही टीम यहां पहुंचती है वैसे लापता छात्र की तलाश विंध्याचल के हर क्षेत्रों, पहाड़ी एरिया और घाटों के आसपास की जाएगी। फिलहाल आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है।

error: Content is protected !!