• पोखरे में नहाने पहुंची दो बच्चियों में से एक की मौत

    परिवार में मचा कोहराम
    
    बड़ागांव के चंगवार दलित बस्ती की घटना

    वाराणसी। पोखरे में नहाने गई दो बच्चियों में से एक की डूबने से मौत हो गई। दूसरी बच्ची को गांव की एक महिला ने किसी तरीके से बचाया। बच्चियों को बचाने के लिए पोखरा में कूदी महिला भी डूबने लगी। लोगों ने किसी तरह से महिला को बचाया। महिला और बचाई गई बच्ची को अस्पताल पहुंचाया गया है।

    दरअसल चंगवार गांव (बड़ागांव) के दलित बस्ती में बुधवार को सुबह तकरीबन 9:00 बजे दो बच्चे खुशबू (सात) पुत्री शिव मूरत, नंदिनी (छह) पुत्री विनोद बनवासी बगल के पोखरे में नहा रही थीं। पोखरे के किनारे सीमा देवी (22) पत्नी राकेश कपड़ा धो रही थीं। अचानक दोनों बच्चियों की चिल्लाने की आवाज आई। बच्चियां पानी में डूब रही थीं। बच्चियों को डूबते देख सीमा देवी पोखरे में कूद पड़ीं। उन्होंने नंदनी को तो बचा लिया लेकिन खुशबू नहीं बच पाई।

    बच्चियों को बचाने के फेर में पोखरे में कूदी सीमा भी डूबने लगीं। शोर शराबा सुनकर एकत्र हुए लोगों ने सीमा को पोखरे से बाहर निकाला। बचाई गई नंदिनी और सीमा को हॉस्पिटल पहुंचाया गया। पता चलने पर मौके पर एसडीएम पिंडरा, सीओ बड़ागांव और थाना प्रभारी फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस ने मृतक खुशबू की लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

    वरुणा नदी में कूदकर महिला ने दी जान

    दूसरी तरफ दीनदयालपुर (शिवपुर) निवासिनी बबीता ने वरुणा नदी में छलांग लगा दी। पता चलने पर पहुंची शिवपुर पुलिस ने बबीता की लाश पुल नदी से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना रविवार की है।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!