Varanasi उत्तर प्रदेश 

Hyderabad के लोग मरकज से वापस लौटने के बजाय Varanasi पहुंचे, पुलिस ने अब तक इतनों को पकड़ा, सभी के खिलाफ FIR

वाराणसी। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में आयोजित तब्लीगी जमात से बनारस आए हैदराबाद के दर्जनभर लोगों को पुलिसवालों ने अलग-अलग जगहों से गुरुवार को गिरफ्तार किया। दो दिनों में जमात में शामिल 17 लोगों की गिरफ्तारी से हड़कंप मचा है। सभी के खिलाफ मुकदमा कायम किया गया है। रोजाना जमातियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पुलिस और प्रशासन के भी हाथ-पैर फूल गए हैं। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिरश हैदराबाद के लोग मरकज से वापस लौटने के बजाय बनारस क्यों पहुंचे।

पड़ताल में 16 नाम आए सामने

बुधवार की देर रात बजरडीहा और पांडेय हवेली से कई और के लौटने की जानकारी मिल रही है। पकड़े गए व्यक्ति जब से आए हैं, कई इलाकों में घूम चुके हैं। वह जहां-जहां गए, वहां के लोकेशन पर एहतियात के लिए काम शुरू कर दिया गया है। याद होगा, शासन से आई सूची में आठ के ही नाम थे। जब प्रशासन ने पड़ताल शुरू की तो 16 नाम सामने आए। बुधवार देर रात मदनपुरा और बजरडीहा से कुल पांच और पकड़े गए। इन्होंने प्रशासन को न तो सूचना दी थी और न ही जांच कराया था। सभी को रात में ही जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। परिवार को कोरंटाइन किया गया। अब 12 और व्यक्ति के सामने आने के बाद शहर से उस जमात में शामिल होने वालों की संख्या बढती जा रही है। प्रशासन के मुताबिक कई और हैं, जिन्होंने सूचना नहीं दी है।

छापेमारी की जा रही है

पुलिस के मुताबिक और लोगों के छिपे रहने की आशंका पर जगह-जगह छापेमारी की जा रही है। पुलिस उन लोगों की सूची तैयार कर रही है जिन्होंने पुलिस को बिना बताए अपने यहां रहने के लिए शरण दिया है। उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सभी को कोरंटाइन किया गया

तब्लीगी जमात में शामिल लोगों के पकड़े जाने पर जहां हड़कंप मचा हुआ है, वहीं अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौके की पड़ताल की है। अलग-अलग एम्बुलेंस से सभी को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल भेजा गया। इसके अलावा हैदराबाद के गिरफ्तार 12 तब्लीगी का भी अस्पताल में कोरंटाइन किया गया। जमात में शामिल लोगों को अस्पताल में ही रखा जाएगा जब तक उनकी सैंपल रिपोर्ट नहीं आ जाएगी।

कुछ के छिपे होने का अनुमान

अभी तक जिन लोगों के नाम सामने आए हैं और जितने तब्लीगी गिरफ्तार हुए हैं, पुलिस ने उनके मोबाइल को सर्विलांस पर डाल दिया है ताकि अन्य की लोकेशन मिलती रहे। पुलिस के अनुसार अभी चार-पांच लोग और शहर में छिपे हुए हैं, जिनकी तलाश जारी है। हालांकि पुलिस गिरफ्तार हैदराबाद के लोगों से यह पता लगाने का प्रयास कर रही है आखिर वे किसके कहने पर यहां आए और उनका इरादा क्या था। साथ ही वह कहां-कहां गए, इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है।

शरण देने वालों के खिलाफ भी होगी कार्रवाई- एसएसपी

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि हैदराबाद के 12 लोग विभिन्न जगहों से गिरफ्तार हुए हैं। सभी निजामुुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल हुए थें। कुछ और लोगों की छिपे रहने की जानकारी मिल रही है। उनके लिए छापेमारी की जा रही है। कहा, उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी जिन लोगों ने पुलिस से बिना बताए अपने घरों में इन्हें शरण दिया था। हैदराबाद के तब्लीगी के यहां आने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

error: Content is protected !!