• समीक्षा बैठक : CM Yogi ने काशी की स्वच्छता पर दिया जोर, 30 अक्टूबर तक शहर की सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का निर्देश

    वाराणसी। मऊ के घोसी विधानसभा उपचुनाव का प्रचार खत्म कर सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार की देर शाम सड़क मार्ग से काशी पहुंचे। बनारस पहुंचते ही सीएम योगी ने शहर में चल रही परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा की। इस साल फरवरी में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा शिलान्यास किए गए परियोजनाओं में 4 अरब 36 करोड़ 93 लाख रुपए की 13 परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। इसके अतिरिक्त अरबों रुपए की 25 प्रमुख परियोजनाओं में तेजी से काम निर्माणाधीन है, जो इसी वित्तीय वर्ष में पूर्ण हो जाएगा। सीएम योगी ने अधिकारियों को जोर देते हुए कहा कि देश में काशी स्वच्छता के मामले में पहले पायदान पर हो।

    दीपावली से पहले शहर से लेकर गांव तक विशेष सफाई अभियान चलाकर काशी को कूड़ा रहित करें। सड़कों पर, पार्कों में व खाली प्लाटों में कहीं कूड़ा नहीं दिखे। दीपावली से देव दीपावली तक काशी जगमग करें। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट अच्छा रखा जाए। लोक निर्माण विभाग समस्त सड़के 30 अक्टूबर तक गड्ढा मुक्त कराए। छठ पूजा से पहले सभी घाटों की अच्छी साफ सफाई कर ली जाए। सीएम योगी ने अधिकारियों को सचेत किया कि शासकीय योजनाओं का दुरुपयोग कतई नहीं हो। लाभार्थीपरक योजनाओं में पात्र व्यक्ति का ही चयन हो। गरीब, वंचित, जरूरतमंद पात्र व्यक्ति शासकीय योजनाओं के लाभ से वंचित नहीं रहे। निराश्रित गोवंश की व्यवस्था की गई है, ये आवारा नहीं घूमे।

    जलभराव की स्थिति कहीं नहीं रहे। तीन दिन में सभी जलजमाव ड्रेन आउट कर वहां कीटनाशकों का छिड़काव, फागिंग व स्वास्थ्य विभाग द्वारा विशेष हेल्थ कैंप लगवाए जाएं। काशी की स्वच्छता, विकास कार्य व लाभार्थीपरक कार्यों का जिला व मंडल स्तर पर सतत पर्यवेक्षण हो। किसी स्तर पर लापरवाही नहीं हो। बड़े निर्माण कार्य के दरमियान वहां सुरक्षा मानकों का पूरा पालन किया जाए।

    भ्रष्टाचारियों को भेजा जाएगा जेल

    दीपावली से पूर्व बैंकों के विशेष लोन मेले आयोजित हो। जीएसटी पर व्यापारियों के साथ वर्कशॉप कर उन्हें जानकारी दी जाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट संकेत दिए कि लापरवाही व गैर जिम्मेदाराना रवैया से जनहानि की आशंका, भ्रष्टाचार की बू आने वाले मानकों में संबंधितो की उत्तरदायित्व निर्धारित कर जेल भेजने की कार्रवाई होगी।

    कार्यो का पूरी गुणवत्ता से क्रियान्वयन हो। हर स्तर का अधिकारी पर्यवेक्षण करें। छोटी गलती बड़ा रूप ले लेती है, अतः तत्परता व सजगता बराबर रखें। मुख्यमंत्री ने आगामी त्योहारों के दृष्टिगत कानून एवं शांति व्यवस्था पर सजग रहने के भी निर्देश दिए।

    लापरवाही पर कार्रवाई का निर्देश

    समीक्षा के दरमियान पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन 50 बेड के महिला मेटरनिटी विंग के धीमी प्रगति की जानकारी पर मुख्यमंत्री द्वारा इसका कारण पूछे जाने पर कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम द्वारा ठेकेदार को काम का ड्राइंग विलंब से उपलब्ध कराए जाने को प्रमुख कारण बताया।

    बताया कि इस बाबत ठेकेदार से एफिडेविट लिया गया है। राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक के द्वारा बताए गए जानकारी की भी जांच कराई जा रही है। जिम्मेदारी निर्धारित कर कार्रवाई सुनिश्चित कराए जाने का मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया।

    ये थे शामिल

    बैठक में उत्तर प्रदेश के पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, स्टांप राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जायसवाल, एमएलसी डॉ. लक्ष्मण आचार्य, एमएलसी अशोक धवन, विधायक सौरभ श्रीवास्तव सहित एडीजी बृजभूषण, आईजी विजय सिंह मीणा, जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह, एसएसपी आनंद कुलकर्णी, मुख्य विकास अधिकारी गौरांग राठी सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

    Print Friendly, PDF & Email

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!