Varanasi 

Weather : जोरदार बारिश ने कराया सावन का एहसास, मस्तमौला दिखा शहर बनारस

गंगा उफान पर, एक सेमी प्रतिघन्टा से बढ़ रहा जल स्तर

Varanasi : सावन की शुरुआत होते ही मौसम भी मेहरबान नजर आया। दोनों की उमस के बाद शुक्रवार इंद्रदेव भी मेहरबान हुए और शहर में जमकर बारिश हुई। सुबह से मेघ ने आसमानों में डेरा डाल रखा था। दोपहर करीब 11 बजे से शुरू बारिश घण्टे भर तक जमकर हुई। उसके बाद पूरे दिन बूंदाबांदी जारी रहा। बनारस में बादलों की आवाजाही के बीच रह रहकर जोरदार बारिश हो रही है। इससे मौसम जहां सुहाना हो गया है वहीं किसानों के चेहरे भी खिल उठे है। धान की रोपाई ने भी रफ्तार पकड़ लिया है। बरसात के चलते रोड और गलियों में जलजमाव से लोगों के आने-जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रह है।

बारिश होने से न्यूनतम तापमान में भी काफी कमी आई है।अधिकतम तापमान घटकर 32.0 डिग्री सेल्सियस हो गया, जो एक दिन पहले 36.0 डिग्री पर पहुंच था। हालांकि न्यूनतम तापमान 27.0 डिग्री के साथ दो दिनों से स्थिर है। प्रसिद्ध मौसम विज्ञानी प्रो. एसएन पांडेय के अनुसार अभी दो-तीन दिनों तक पूर्वांचल में बारिश की संभावना बनी हुई है। परिस्थितियां बारिश के काफी अनुकूल बनी हुई हैं।

गंगा के जल स्तर में बढ़ाव जारी

गंगा का जलस्तर अभी प्रति घंटे एक सेमी के रफ्तार से बढ़ रहा है। बुधवार को ही गंगा प्रति घंटे में ही एक सेमी की रफ्तार से बढऩे लगी थीं। इससे पहले सोमवार की शाम छह बजे वाराणसी में गंगा का जलस्तर जहां 60.83 मीटर ही था वहीं मंगलवार को यह आंकड़ा 61.11 मीटर पर पहुंच गया। इसके 26 घंटे के बाद बुधवार की रात आठ बजे जलस्तर 61.30 मीटर पर पहुंच गया।

वहीं गुरुवार की सुबह जलस्तर जो 61.41 मीटर था वहीं शाम सात बजे तक बढ़कर 61.49 मीटर होगया। भारी बारिश के कारण नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। इससे बलिया, वाराणसी, मीरजापुर और अन्‍य जिलों के तटवर्ती इलाकों के बाशिंदे सहम गए हैं। विभिन्न स्थानों पर सिंचाई विभाग की ओर से कराए जा रहे कटानरोधी कार्य अब बरसात के चलते कई स्थानों पर ठप हो गए हैं।

error: Content is protected !!