Health Varanasi 

Varanasi में 05 PHC बढ़ेंगे : मुंशीजी के गांव लमही को मिली सौगात, अब 29 हो जाएगी स्वास्थ्य केंद्रों की संख्या, बोले CMO- संचालनकी तैयारियां पूरी

Varanasi : चिकित्सीय और स्वास्थ्य सुविधाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है। इसी कड़ी में अब नगर में पांच नए शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का संचालन जल्द ही शुरू होने वाला है। इन पांच नए स्वास्थ्य केंद्रों से क्षेत्रीय आबादी को निशुल्क सामान्य, प्राथमिक जांच, उपचार, परामर्श और दवा की सुविधा मिल सकेगी। यह कहना है CMO डॉ. संदीप चौधरी का।

कहा कि नगरीय इलाकों में पहले से ही 24 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में अब पांच नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को जोड़ा जा रहा है। यह पांच नई शहरी पीएचसी रामनगर, लेढु़पुर, सुसुवाहीं, लोहता और मुंशी प्रेमचंद का गांव लमही हैं।

उन्होंने बताया कि इन स्वास्थ्य केंद्रों के संचालन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। नोडल अधिकारी अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके मौर्य ने बताया कि शासन की मंशा के अनुरूप नगरीय इलाकों में चिकित्सीय सुविधाओं को लेकर लगातार विस्तार किया जा रहा है। वर्तमान में नगरीय इलाकों में संचालित 24 पीएचसी जनपद की करीब 38 प्रतिशत (नगरीय) आबादी को कवर करते हैं।

ऐसा माना जाता है कि एक पीएचसी कम से कम 50,000 की आबादी को कवर करता है। ऐसे में देखा जाए तो पांच नई शहरी पीएचसी लगभग ढाई लाख आबादी को कवर करेंगे। इसके साथ ही अब 42 फीसदी आबादी को 29 नगरीय पीएचसी के माध्यम से कवर किया जा सकेगा। इससे क्षेत्रीय लोगों को उनके घर के नजदीक ही चिकित्सीय व स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल सकेगा।

मिलेंगी सुविधाएं

डॉ. मौर्य ने बताया कि इन पांच नई शहरी पीएचसी पर वही चिकित्सीय सुविधाएं लोगों को मिलेंगी जो पूर्व से संचालित पीएचसी पर दी जा रही हैं। इन सुविधाओं में प्रमुख रूप से मातृ-शिशु स्वास्थ्य सेवाएं जैसे प्रसव पूर्व जांच (हीमोग्लोबिन, शुगर, ब्लड प्रेशर, ब्लड टेस्ट, ब्लड ग्रुप, सिफलिस, एचआईवी, टिटनेस-डिप्थीरिया का टीका आदि) की सुविधा, बच्चों का नियमित टीकाकरण शामिल है। इसके साथ ही ओपीडी की सुविधा, किशोर-किशोरी स्वास्थ्य परामर्श, परिवार नियोजन की सेवाएं, परामर्श, दवा आदि की निशुल्क सुविधाएं मौजूद रहेंगी।

जिला नगरीय स्वास्थ्य समन्वयक आशीष सिंह ने बताया कि इन सभी नए शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आवश्यक चिकित्सीय उपकरण और संसाधन का क्रय कर लिया गया है जिनको जल्द ही पीएचसी पर पहुंचा दिया जाएगा। फिलहाल यह सभी पीएचसी किराए के भवन में संचालित की जाएंगी। इसके साथ ही इन स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी (एमओआईसी) सहित दो अतिरिक्त स्टाफ की तैनाती सुनिश्चित की गई है।

You cannot copy content of this page