Varanasi उत्तर प्रदेश 

Varanasi के अबतक 18 उत्पाद शामिल : बनारसी जरदोजी, हैंड ब्लॉक प्रिंट सहित काशी क्षेत्र के छह उत्पादों को जीआई प्रमाण पत्र

Varanasi : चेन्नई में जीआई रजिस्ट्री ने बनारस जरदोजी, हैंड ब्लॉक प्रिंट, वुड कार्विंग, मिर्ज़ापुर पीतल बर्तन और चुनार ग्लेसड पॉटरी को जीआई टैग से सम्मानित किया है।इससे पहले कुट्टिकट्टूर आम, एडयूर मिर्च, कश्मीरी केशरऔर ब तिरूर वेट्टीला या पान के पत्ते को भी जीआई टैग मिला था। बनारस में अबतक 18 तो प्रदेश में 34 समेत उत्पादों को जीआई टैग मिला है।

मंडलायुक्त सभागार में आयोजित समारोह में इन प्रमाण पत्रों को संबंधित आवेदकों व सुविधादाताओं को सौंपा गया। डिप्टी रजिस्ट्रार जीआइ सचिन शर्मा व कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने इसे शुभकामना के साथ प्रदान किया।

बतौर मुख्य अतिथि अयोध्या से आनलाइन जुड़े पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य प्रोटोकाल राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डा. नीलकंठ तिवारी ने कहा कि वाराणसी के 12 जीआइ उत्पादों को संरक्षित करने का कार्य कर लिया गया है। इससे विश्व में इनकी पहचान बढ़ेगी। वैश्विक स्तर पर भारत की भूमि, कारीगरों को पहचान व सम्मान मिल रहा है।

कमिश्नर ने कहा, जीआइ टैग से संबंधित उत्पादों को पूरी दुनिया में कानूनी संरक्षण प्राप्त हो जाएगा। बनारस से सीधे विश्व में कहीं भी निर्यात की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए पैकेजिंग के लिए पैक हाउस बनाया जा रहा है।

काशी के क्षेत्र के पहले जीआई टैग

बनारसी साड़ी, भदोही कालीन, मीरजापुर दरी, निजामाबाद ब्लैक पाटरी, गाजीपुर वाल हैैंगिंग, बनारस साफ्ट स्टोन जाली क्राफ्ट, बनारस ग्लास बीड्स, बनारस मेटल रिपोजी, गुलाबी मीनाकारी व वुडेन लेकर वेयर, चुनार बलुआ पत्थर, गोरखपुर टेराकोटा।

You cannot copy content of this page