Lucknow Varanasi उत्तर प्रदेश 

निर्माण में 98 प्रतिशत स्वदेशी उपकरणों का हुआ उपयोग : BLW द्वारा निर्मित 100वां रेल इंजन ‘WAG9HC’ राष्ट्र को समर्पित, महाप्रबंधक अंजली गोयल और हेल्थ वर्कर्स ने दिखाई हरी झंडी

Sanjay singh

Varanasi : वित्‍तीय वर्ष 2021-22 में बरेका निर्मित 100वें रेल इंजन “WAG9HC” राष्‍ट्र को समर्पित किया गया। बरेका महाप्रबंधक अंजली गोयल ने शनिवार को हरी झंडी दिखाकर 100वें रेल इंजन को राष्ट्र को समर्पित किया। न्‍यू लोको टेस्‍ट शॉप में आयोजित एक सादे समारोह में आकर्षक रंग संयोजन एवं पुष्‍प से सुसज्जित वित्‍तीय रेल इंजन “WAG9HC” का हेल्‍थकेयर वर्कर्स (कोरोना वारियर्स) द्वारा विधिवत् पूजन किया गया फिर जीएम ने हरी झंडी दिखाई।

इस अवसर पर महाप्रबंधक ने कोविड-19 के खिलाफ अथक लड़ाई में हेल्‍थकेयर वर्कर्स (कोरोना वारियर्स) के योगदान के लिए 100वें रेलइंजन को मेडिकल टीम को समर्पित किया। साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उत्पादन जारी रखने के लिए बरेका के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रयासों की भी सराहना की। यह उपलब्धि और भी प्रशंसनीय है, क्‍योंकि बरेका कर्मचारीगण कोविड-19 की द्वितीय लहर से गंभीर रूप से प्रभावित होते हुए भी लगभग 25 प्रतिशत कर्मचारी कोविड पोजेटिव थे, सभी गतिविधि 50 प्रतिशत कर्मचारी क्षमता द्वारा की गयी थी।

यह है खासियत

उल्‍लेखनीय है कि यह 100वें रेलइंजन – 6000 अश्व शक्ति का मालवाहक विद्युत लोको 6000 टन की मालगाड़ी को अकेले खींच सकता है। इसमें रिजेनरेटिव ब्रेकिंग सि‍स्‍टम की वजह से 15 से 20 प्रतिशत ऊर्जा की बचत होगी। इसकी अधिकतम गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसमें चालक की सुविधा के लिए चालक कक्ष को पूर्णतया वातानुकूलित बनाया गया है। यह रेलइंजन पूर्व रेलवे के आसनसोल विद्युत लोको शेड को भेजा गया। प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत मिशन में इन इंजनों के निर्माण में लगभग 98% स्वदेशी उपकरणों का प्रयोग हुआ है। इससे एमएसएमई और घरेलू विनिर्माण क्षेत्र को काफी सहायता मिल रही है ।

You cannot copy content of this page