Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

बड़ा हादसा होते-होते बचा : बीच गंगा में नाव में भरने लगा पानी, नाविक ने लगाई छलांग और फुर्र, सवार यात्रियों में इतने को अस्पताल पहुंचाया गया, पुलिस ने लिखा मुकदमा

Varanasi : दशाश्वमेध घाट पर शनिवार कि सुबह बड़ा हादसा होते-होते बचा। पुलिस के मुताबिक, दक्षिण भारतीय यात्रियों से भरी नाव में छेद था। घाट के सामने गंगाके बीच में नाव डगमगाती देख घाट पर मौजूद नाविक और तैरना जानने वालों ने तुरंत गंगा में छलांग लगाकर 34 यात्रियों को सकुशल बाहर निकाला। इनमें से दो कि स्थिति ठीक न होने पर कबीरचौरा अस्पताल भेजा गया। बाद में उन्हें बेहतर चिकित्सकीय सेवा के लिए बीएचयू हॉस्पिटल ले जाया गया।

नाव में सावर लोगों के अनुसार, नाविक नाव में पानी भरता देख गंगा में छलांग मारकर फुर्र हो गया। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। नाविक के खिलाफ मुकदमा लिखाया गया है।

दशाश्वमेध पुलिस ने बताया कि केरल से श्रीकाशी विश्वनाथ का दर्शन करने आये श्रद्धालु सुबह गंगा में नौका विहार करने के लिए केदारघाट से नाव में सवार हुए थे। नाव में सवार और बचाए गये केरल निवासी सुमन ने बताया कि केदारघाट से मणिकर्णिका घाट जाना था। बीच में एक बोट से हमारी बोट टकरा गयी। कुछ ही देर में उसमें पानी भरने लगा। नाविक भाग गया। नाव में पानी भरने लगा।

नाव पलटने से मची चीख-पुकार सुनकर घाट पर मौजूद नाविकों ने तुरंत बचाव कार्य शरू कर दिया। जल पुलिस के जवान भी मौके पर पहुंच गये। राहत और बचाव कार्य में लग गये। एक-एक करके सभी यात्रियों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया। दो यात्रियों कि तबियत खराब होने पर उन्हें अस्पताल भेजा गया। पुलिस ने बताया कि नाविक कि तलाश की जा रही। घटना के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

You cannot copy content of this page