Exclusive Lucknow Varanasi उत्तर प्रदेश 

@aajexpressdgtl #Exclusive : बात रह गई अधूरी, डिप्टी एसपी बनकर बनारस आने की आस नहीं हुई पूरी

इंस्पेक्टर समरजीत ने कहा था डिप्टी एसपी बनते ही तबादला करा लूंगा बनारस

कार का टायर फटने से सैफई में हुई दुर्घटना

Varanasi : गोरखपुर के बड़हलगंज क्षेत्र के पटवा के मूल निवासी इंस्पेक्टर समरजीत सिंह और उनके ससुर कमलेश सिंह की सड़क हादसे में सैफई में मौत हो गई। हादसे में इंस्पेक्टर समरजीत सिंह के साले और बच्चे चोटिल हुए हैं। कार में समरजीत के अलावा उनके ससुर, दोनों बेटे और साले थें। सहारनपुर में क्राइम ब्रांच में तैनात समरजीत सिंह अपने परिवार के साथ कार से बनारस आ रहे थें। रास्ते में टायर फटने से गाड़ी अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। हादसे के समय उनके छोटे बेटे कार चला रहे थें। समरजीत सिंह 1997-1998 बैच के दरोगा थें। विभागीय प्रमोशन के बाद वह इंस्पेक्टर बने। समरजीत के निधन से पुलिस महकमे सहित बनारस के कई लोग गमगीन हैं। अधिवक्ता मनीष राय ने बताया कि समरजीत सिंह का असमय जाना खल गया।

कई रचनाएं हुई हैं प्रकाशित

स्तंभकार धीरज राय का कहना है, राष्ट्रपति के वीरता पुरस्कार से सम्मानित मेरा भाई पुलिस की ड्यूटी के साथ ही अपने निजी संबंधों को बेहतर तरीके से निभाने और जिंदादिली के साथ जीने के लिए जाना जाता था। समरजीत सिंह पुलिस की नौकरी के शुरुआती दौर में वाराणसी में कई जगहों पर चौकी प्रभारी के पद पर तैनात रहे। ऊपर वाले ने ऐसे नेक आदमी और उनके परिवार के साथ बहुत गलत किया है। उन्होंने बताया, इंस्पेक्टर समरजीत सिंह अपने ड्यूटी से इतर लिखंत-पढ़ंत भी करते थें। उनकी कई रचनाएं प्रकाशित हुई हैं।

छोटे भाई हैं पीपीएस अधिकारी

उन्होंने बताया, समरजीत छुट्टी लेकर सहारनपुर से भगवानपुर के पास (लंका) अपने घर आ रहे थें। समरजीत अपने भाईयों में सबसे बडे थें। उनके छोटे भाई रणजीत सिंह उत्तर प्रदेश के पीसीएस अधिकारी हैं। सबसे छोटे भाई अमरजीत सिंह सहारा नेटवर्क में कार्यरत हैं। समरजीत सिंह के पिता भी यूपी पुलिस में अफसर थें। समरजीत वाराणसी में पले-बढे़। उन्होंने अपनी माध्यमिक शिक्षा सेंट्रल हिंदू स्कूल कमच्छा से पूरी की। श्री राय ने बताया, बातचीत में कुछ दिन पहले ही उन्होंने कहा था डिप्टी एसपी बनते ही तबादला करा कर बनारस आ जाऊंगा।

… वो मुकद्दर का सिकंदर

सड़क हादसे में इंस्पेक्टर समरजीत की मौत होने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो क्लिप वायरल हुई। वायरल वीडियो क्लिप में दिखाई दे रहा है कि कार के अंदर चार लोग बैठे हैं। गाड़ी सड़क पर दौड़ रही है। समरजीत ड्राइवर के बगल वाली सीट पर बैठे हैं। गाना बज रहा है, रोते हुए आते हैं सब, हंसता हुआ जो जाएगा, वो मुकद्दर का सिकंदर…। वायरल वीडियो क्लिप में समरजीत भी इसी गाने को गुनगुना रहे हैं।

You cannot copy content of this page