Breaking Crime Exclusive Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

Agnipath Scheme Protest Update : उपद्रव की आशंका पर फोर्स सतर्क, विरोध जता रहे युवकों को बस में बैठा कर वापस भेजा गया, किसी ने कहा ‘प्रायोजित घटनाक्रम’ तो कोई बोला ‘षड्यंत्र’

Varanasi : अग्नीपथ का विरोध जता रहे युवकों को पुलिस ने बस में बैठा कर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया। दरअसल, शुक्रवार को कुछ युवकों ने वाराणसी में हंगामा करना शुरू कर दिया। पत्थरबाजी की। कई बसों के शीशे तोड़ दिए। फोर्स ने स्थिति संभाली। तकरीबन पांच घंटे बाद हालात सामान्य हुए। उपद्रव की आशंका को लेकर फोर्स सतर्क है।

दूसरी ओर, युवकों के हंगामे को वाराणसी के लोगों ने प्रायोजित बताया है। एस्ट्रोलॉजर पंडित लोकनाथ शास्त्री का कहना था कि जिस दिन भर्ती शुरू हुई उस दिन युवकों की लगी लंबी लाइन यह सिद्ध कर देगी कि आज का बवाल प्रायोजित था। इसी तरह, फौजदारी के अधिवक्ता मनीष राय ने भी घटना को षड्यंत्र बताया है।

वरिष्ठ पत्रकार और स्तंभकार अजीत मिश्रा का कहना था कि युवकों को बहका कर उपद्रव कराया जा रहा है। अगर जांच हुई तो कई लोग बेनकाब हो सकते हैं।

उधर, शहर के कई हिस्सों में अग्निवीर के विरोध में युवकों के विरोध को देखते हुए पुलिस सुबह से ही एक्शन मोड़ में थी। हमारे मंडुआडीह प्रतिनिधि के मुताबिक, SO राजीव कुमार सिंह, लहरतारा चौकी प्रभारी मनोज कुमार, मड़ौली चौकी प्रभारी शिवानंद सिसौदिया, BLW चौकी इंचार्ज विनोद पटेल, SI पंकज पांडेय, राम प्रकाश, उपनिरीक्षक देवराज सिंह ने बनारस रेलवे स्टेशन, लहरतारा, चांदपुर, महेशपुर, बौलिया होते हुए फुलवरिया तक फुट पेट्रोलिंग किया।

पुलिस ने लहरतारा में विरोध करने आए युवकों को समझा कर बस में बैठाकर रवाना किया। सुरक्षा के लिहाज से बनारस स्टेशन पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी और एंबुलेंस भी इमरजेंसी के लिए खड़ी कराई गई थी।

You cannot copy content of this page