Breaking Crime Exclusive Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

ऑटो ड्राइवर आशिक ने ही विवाहिता की हत्या कर फेंकी थी लाश : हत्यारोपी पकड़ा गया, विवाहिता का मोबाइल बरामद

Varanasi : लोहता थाना क्षेत्र में बसहीं की रहने वाली विवाहिता का हत्यारा उसका आटो चालक आशिक राजकुमार यादव ही निकला। उसने विवाहिता को बुलाकार आटो में ही बीयर पिलाया। उसी के दुपट्टे से गला कसकर हत्या कर दी।

लाश को ले जाकर लोहता थाना क्षेत्र में फेंक आया। लोहता पुलिस ने मंगलवार को राजकमुार यादव को गिरफ्तार कर लिया।

विवाहिता पति से संबंध अच्छे न होने के कारण मायके में रहती थी। राजकुमार भी विवाहित है, लेकिन मरने वाली विवाहिता से उसके संबंध थे। पुलिस ने हत्यारे प्रेमी के पास से मृतका का मोबाइल भी बरामद किया है। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक सूर्यकांत त्रिपाठी ने अपने कार्यालय में वारदात का खुलासा किया।

याद होगा, 24 सितंबर की सुबह लोहता थाना क्षेत्र में अनंतपुर रिंग रोड के किनारे गड्ढे में युवती की लाश मिली थी। उसके नाक से खून बहा था। होठ पर चोट के निशान थे। पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए युवती की पहचान कराई।

इस मामले में विवाहिता के परिवारवालों की तहरीर पर मुकदमा कायम किया गया था। मंगलवार को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मीरापुर बसहीं निवासी हत्यारोपित राजकुमार यादव धमरिया पुल के पास आटो के साथ मौजूद है। इसके बाद पुलिस टीम ने पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

राजकुमार मूलरूप से मिर्जापुर के कोतवाली क्षेत्र के भरूड़ा गांव का निवासी है। राजकुमार ने पुलिस को बताया कि मेरी शादी पत्नी पायल विश्वकर्मा से 10 साल पहले हुई थी। ससुराल वाले मुझे जीविकोपार्जन के लिए आटो खरीद कर दिये थे।

शादी के कुछ समय बाद मेरी जान पहचान विवाहिता से हो गयी। उसके पति से विवाद होने के कारण वह मायके में रहती थी। इस दौरान हम दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ गयी थीं। मैं अपनी कमाई उस पर खर्च करता था।

विवाहिता जबतब उससे रुपये की मांग करती थी जिससे वह तंग आ गया था। कुछ दिन पहले से विवाहिता अपनी बहन के इलाज के लिए 40,000 रुपये मांग रही थी। धमकी दे रही थी अगर पैसा नहीं दोगे तो मैं तुम्हे छोड़ दूंगी।

उसकी इन्हीं आदतो से तंग आकर 23 सितंबर को मैंने उसे तुलसी बिहार कालोनी में बुलाया। आटो मे ही बीयर पिलाया। जब वह काफी नशे में हो गयी तब उसी के दुपट्टे से उसकी गला कसकर हत्या कर दी। हत्या के बाद उसका मोबाइल ले लिया।

आटो से ही तुलसी बिहार कालोनी से शिवपुर से परमानंदपुर होते हुए हरहुआ रिंगरोड़ से अनंतपुर में जाकर सर्विस लेन के किनारे अर्चना के लाश को फेंक दिया था।

उसे गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में लोहता थाना प्रभारी निरीक्षक राजेश त्रिपाठी, एसआई सुनील कुमार यादव, हरिकेश सिंह, मनीष सिंह, संदीप कुमार सिंह, सलमान खान, हेड कांस्टेबल सत्यप्रकाश, कांस्टेबल आदित्य कुमार आदि पुलिसकर्मी शामिल हैं।

You cannot copy content of this page