Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

अविमुक्तश्वरानंद को नहीं मिली इजाजत : ज्ञानवापी परिसर के अंदर सील क्षेत्र में पूजा करने जाने की पत्र लिखकर अनुमति मांगी गयी थी, DCP बोले – उल्लंघन पर होगी सख्त कार्रवाई

Varanasi : स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के द्वारा पुलिस को शनिवार को ज्ञानवापी परिसर के अंदर सील क्षेत्र में पूजा करने जाने की पत्र लिखकर अनुमति मांगी गयी थी। डीसीपी काशी जोन आरएस गौतम ने इस सम्बन्ध में किसी भी तरह की अनुमति नहीं देते हुए कानून के उल्लंघन पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है।

गुरुवार को किया था एलान


शनिवार को श्रीविद्या मठ के पीठाधीश्वर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने शनिवार 4 जून को शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के आदेश के क्रम में ज्ञानवापी परिसर में मिले आदि विश्वेश्वर की पूजा-अर्चना करने की बात का एलान किया था। इस सम्बन्ध में उनके द्वारा डीसीपी काशी जोन को एक पात्र लिखकर अवगत कराते हुए अनुमति मांगी गयी थी।

कोर्ट ने किया है सील


डीसीपी ने बताया कि इस सम्बन्ध में विभिन्‍न स्रोतों से जानकारी की गयी एवं संबंधित से आख्या प्राप्त की गयी तथा अभिलेखों का अवलोकन किया गया, जिससे विदित हुआ कि आवेदक द्वारा जिस स्थल पर नियमित-नित्य पूजा अर्चना एवं राग-भोग किये जाने की अनुमति मांगी जा रही है। उस परिसर के संबंध में सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट, डिस्ट्रिक्ट कोर्ट और सिविल जज सीनियर डिविजन के यहां वाद विचाराधीन है तथा उक्त स्थल कोर्ट के आदेश से सील किया गया है तथा सीआरपीएफ की सुरक्षा घेरे में है।

शांति और कानून व्यवस्था भंग करने पर होगी कार्रवाई


ऐसे में शांति, कानून व्यवस्था के दृष्टिकोण से प्रार्थना-पत्र को निस्तारित करते हुए उक्त स्थल पर पूजन-अर्चन किये जाने की अनुमति प्रदान न करते हुए संबंधित को सूचित करा दिया गया है। इसके बावजूद भी यदि कोई कानून का उल्लंघन और शांति व्यवस्था भंग करने की कोशिश करता है, तो उसके विरूद्ध कठोरतम विधिक कार्रवाई अमल में लायी जाएगी।

You cannot copy content of this page