Breaking Exclusive Varanasi ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म पूर्वांचल 

बप्पा अगले बरस फिर आना : ढोल-नगाड़े के बीच गणपति प्रतिमा का विसर्जन

Abhishek Tripathi

Varanasi : ग्रामीण क्षेत्र में पांच दिन तक विधिवत पूजन-अर्चन के बाद गणपति प्रतिमा को मंगलवार को विसर्जित किया गया। ग्रामीण अंचल के रामेश्वर तालाब में प्रथम विसर्जित करने के लिए युवक ट्रैक्टर पर रखे गणपति के प्रतिमा के साथ साउंड बॉक्स रखकर जिसमें बज रहे गीत पर नाचते गाते अबीर-गुलाल उड़ाते हुये जय-जयकार लगाते चल रहे थे।

ग्राम पंचायत जगापट्टी में स्थित ग्राम सचिवालय के बगल में निगरानी समिति परसीपुर पदाधिकारियों के नेतृत्व में स्थापित गणपति प्रतिमा का विसर्जन बैंड-बाजे के साथ दर्जनों गावों में भ्रमण कराते हुए विसर्जन किया गया। निगरानी समिति के सदस्यों ने गणपति के प्रतिमा को ट्रैक्टर पर रखकर रामेश्वर, बरेमा, भुईली, हीरमपुर, परसीपुर, पेंडुका, तेंदुई सहित आदि गावो में भ्रमण कराने के बाद रामेश्वर स्थित तालाब के पास पहुंचकर जय जयकारा के साथ विसर्जन किया गया।गांवों में लोग गणपति के अंतिम दर्शन पाने के लिये लालायित होकर उमड़ पड़े।

प्रतिमा विसर्जन के समय श्रद्धालुओं ने कहा कि गणपति को उन्हें विदा करते समय कहते है कि हम एक वर्ष तक आपका इंतजार करेगें और अगले वर्ष आप जरूर आइएगा। हमें भूलिएगा नहीं।इसके साथ ही गणपति के जय जयकारा के साथ आरती कर तालाब में प्रतिमा का विसर्जन कर दिया गया।

इस मौके पर गणपति पूजन समिति के संरक्षक अवनीश सिंह उर्फ दीपू सिंह, संयोजक ग्राम प्रधान घनश्याम सिंह यादव, ग्राम पंचायत अधिकारी राम अचल सिंह, कन्हैया लाल,अजीत कुमार सिंह उर्फ आजाद सिंह, विनई त्रिपाठी, प्रीतेश उर्फ राहुल त्रिपाठी, शशि कुमार पासवान, अमित कुमार, आशीष कुमार पासवान, गिरजा सोनकर, अनिल कुमार (रामेश्वर), ललित कुमार तिवारी, रोहित गोंड, श्रीराम पासवान, सागर पासवान, संदीप कुमार गौड़ सहित अन्य लोगों का सहयोग सराहनीय रहा।

गणपति पूजा पंडाल में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए चौकी प्रभारी रामेश्वर मोहित वर्मा, एसआई अविनाश सिंह, कांस्टेबल गुलाब यादव, संतोष कुमार, महिला बीट आरक्षी रीमा सहित अन्य पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

You cannot copy content of this page