Recipe 

Basant Panchami 2023 Bhog: ज्ञान की अधिष्ठाती सरस्वती को लगाएं उनके प्रिय पांच भोग का नेवैद्य, हर मनोकामना होगी पूरी

26 जनवरी को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाएगा। इस दिन विद्या, ज्ञान और कला की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है, इसलिए इस दिन को सरस्वती पूजा भी कहा जाता है। इस दिन से ही बसंत ऋतु का आगमन भी हो जाता है। इस दिन मां सरस्वती को प्रसन्न करने के लिए उनके पांच प्रिय भोग का नेवैद्य लगाएं।ऐसी मान्यता है इससे मनचाहा फल मिलता है। आइए जानते हैं-

बेसन के लड्‌डू – बसंत पंचमी का पर्व इस साल गुरुवार को है ऐसे में पूजा में बेसन के लड्‌डू का प्रसाद चढ़ाने से देवी सरस्वती संग देवगुरु बृहस्पति और विष्णु जी का आशीर्वाद प्राप्त होगा। विवाह में आ रही बाधा और वाणी दोष दूर होगा।

पीले मीठे चावल – बसंत पंचमी पर केसर भात का भोग देवी सरस्वती को बेहद पसंद है। मान्यता है इससे देवी की कृपा से घर में सकारात्मता का संचार होगा।

केसर हलवा – सरस्वती पूजा में केसर हलवा एक पारंपरिक भोग के रूप में चढ़ाया जाता है। कहते हैं इससे जीवन के हर कष्ट दूर होते हैं। परिवार में मिठास बनी रहती है।

बूंदी – बसंत पंचमी पर बूंदी का भोग जरुर लगाया जाता है। धार्मिक मान्यता है कि इससे देवी सरस्वती साधक पर मेहरबान होती है और बुद्धि का विकास होता है।

राजभोग – मां सरस्वती की पूजा में पीले रंग की मिठाई का भोग लगाने से मां शारद अति प्रसन्न होती है। बसंत पंचमी पर राजभोग का प्रसाद चढ़ाएं। इससे सौभाग्य में बढ़ोत्तरी होगी।

मालपुआ – बच्चों के करियर में कोई अड़चने न आए इसके लिए बसंत पंचमी पर मां सरस्वती को मालपुए का भोग लगाएं। इससे बच्चे का मानसिक विकास अच्छे से होता है।

You cannot copy content of this page