धर्म-कर्म 

Basant Panchami 2023: बसंत पंचमी पर पीले रंग का क्या है महत्व, इस दिन पीला पहनना और खाना क्यों होता है शुभ, जानिए

बसंत ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा माना गया है। बसंत पंचमी के दिन ज्ञान, बुद्धि, कला की देवी मां सरस्वती की आराधना की जाती है। बसंत पंचमी पर सब कुछ पीला दिखता है, इस दिन पीले रंग का बहुत महत्व माना गया है। पीला रंग हिंदू धर्म में भी शुभ माना गया है। आइए जानते है इस दिन पीले रंग को इतना महत्व क्यों दिया जाता है।

बसंत पंचमी पर पीले रंग का महत्व

हिंदू धर्म में पीले रंग को शुभ माना गया है। पीला रंग शुद्ध और सात्विक प्रवृत्ति का प्रतीक माना गया है। ऐसा माना जाता है की पीला रंग बृहस्‍पति का प्रतीक है साथ ही बृहस्‍पति को भी ज्ञान का देवता माना गया है। इसलिए इस दिन पीले रंग के कपड़े पहने जाते हैं। बसंत पंचमी के दिन सूर्य उत्तरायण होता है। सूर्य की किरणों से पृथ्वी पीली होती जाती है। सूर्य की पीली किरणें इस बात का प्रतीक है कि हमे सूर्य की तरह गंभीर और प्रखर बनना चाहिए। इस साल बसंत पंचमी बृहस्पतिवार के दिन पड़ने से इस दिन का महत्व और ज़्यादा बढ़ गया है। इस दिन मां सरस्वती को पीले फूल अर्पित करने चाहिए। सरस्वती मां को पीले रंग के वस्त्र और पीले भोजन का भोग लगाया जाना चाहिए।

पीले चावल खाने का दिन

बसंत पंचमी मां सरस्वती का दिन है, ऐसा माना गया है मां को पीले चावल बहुत पसंद थे, तो इस दिन घर में मीठे पीले चावल बना कर मां को इस का भोग लगाया जाता है। वैसे ही इस दिन पर पीले रंग का बहुत महत्व है, तो आज के दिन लगभग हर घर में मीठे चावल बनते है।

You cannot copy content of this page