Breaking Crime Lucknow Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

CM Yogi के शपथ ग्रहण से पहले खौफ का धंधा करने वालों का कटने लगा टिकट : दो लाख रुपये के इनामी सोनू सिंह का अपराधिक सफर खत्म, STF ने किया Purvanchal के दहशत का अंत

Varanasi : दो लाख के इनामी मनीष सिंह सोनू को UP STF ने लोहता में मुठभेड़ में मार गिराया। 5 अप्रैल 2021 को शूलटंकेश्वर के पास हुई एनडी तिवारी हत्याकांड का वह मुख्य शूटर था। UP में योगी आदित्‍यनाथ की दूसरी सरकार बनने के बाद पहला बड़ा एनकाउंटर है।

पुलिस के लिए सिरदर्द बने दो लाख के इनामिया बदमाश नरोत्तमपुर लंका निवासी मनीष सिंह सोनू को STF ने लोहता में ढेर कर दिया। वाराणसी सहित आसपास के जिलों में हत्या और लूट के मामले में सोनू सिंह का आतंक था।

रोहनिया थाना क्षेत्र के अखरी निवासी एनडी तिवारी की 5 अप्रैल की रात शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर से दर्शन कर घर लौटते समय ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थीं। इस हत्याकांड का मुख्य शूटर मनीष सिंह सोनू था।

राज्य में योगी सरकार की वापसी के साथ ही अपराधियों पर कड़ा शिकंजा कसना शुरू हो गया है। इसी कड़ी में सोमवार को लोहता में कुख्यात अपराधी मनीष सिंह उर्फ सोनू को STF ने मुठभेड़ में मार गिराया।

STF के IG की ओर से बताया गया कि शातिर अपराधी मनीष सिंह उर्फ सोनू पर दो लाख का इनाम था। पूर्वांचल के वाराणसी, जौनपुर और गाजीपुर सहित तमाम जिलों में उसकी आपराधिक गतिविधियां काफी समय से चर्चा में रही हैं।

STF को सोनू की लोकेशन लोहता के पास मिलने के बाद टीम ने उसे मुठभेड़ में उसे ढेर कर दिया। मनीष सिंह उर्फ सोनू सिंह नरोत्तमपुर लंका का मूल निवासी था। वह इन दिनों चोलापुर के सुलेमापुर में रहता था।

मनीष सिंह पर वाराणसी के अलावा अन्‍य जिलों के थाने में भी केस दर्ज हैं। वाराणसी चौक, कैंट, कोतवाली, चौबेपुर, भेलूपुर, फूलपुर, सिगरा, रोहनिया, लंका, चेतगंज में मुकदमा है। वहीं सीतापुर, शाहजहांपुर, आजमगढ़ के देव गांव, जौनपुर के देव गांव, गाजीपुर के नंदगंज में पुलिस के रिकार्ड में नाम है।

मनीष सिंह सोनू कुख्यात बदमाश था। लंका थाना क्षेत्र के नरोत्तमपुर निवासी अनिल सिंह का बेटा मनीष सिंह सोनू बचपन से चोलापुर के उंदी गांव में अपने एक रिश्तेदार के यहां रहता था। सोनू शुरू से ही अपराधिक मानसिकता का था।

मुठभेड़ में सनी सिंह के मारे जाने के बाद मनीष सिंह खुलकर वाराणसी सहित आसपास के कई जनपदों में व्यापारियों को धमकी देकर रंगदारी मांगने के मामलें में जुट गया। दो लाख के इनामी बदमाश मनीष सिंह सोनू पर वाराणसी, मीरजापुर, आजमगढ़ सहित अन्य जनपदों के विभिन्न थानों में लगभग दो दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज हैं।

पहले सोनू पर एक लाख का इनाम घोषित था, जिसे 28 अगस्त को चौकाघाट काली मंदिर के पास हुए डबल मर्डर की घटना में सीसीटीवी फुटेज में चिन्हित होने के बाद एडीजी वाराणसी जोन बृजभूषण की संस्तुति के बाद दो लाख का इनाम कर दिया गया था। तब से पुलिस उसकी तलाश में थी। मनीष सिंह सोनू का नाम रोहनिया के एक कारोबारी से दस लाख की रंगदारी मांगने में सामने आया था।

साल 2021 के पांच अप्रैल को शुलटंकेश्वर से दर्शन-पूजन कर लौट रहे एनडी तिवारी की हत्या में भी उनका नाम सामने आया था। सितंबर 2020 में भी मिर्जापुर के चुनार में एक कंपनी के अधिकारी से रंगदारी मांगने और हत्या के मामले में नाम सामने आया था।

You cannot copy content of this page