Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

IPS बन BHU की छात्रा से किया था ब्लैकमेलिंग : क्राइम ब्रांच ने दो को किया गिरफ्तार, लगेगा गैंगेस्टर

Varanasi : जौनपुर निवासी बीएचयू की छात्रा साइबर जालसाजी का शिकार हो गई थी। जालसाज ने छात्रा को ब्लैकमेल कर 2400 रुपये वसूला गया और व्हाट्सएप के जरिए न्यूड वीडियो भी बनाया। पीड़िता की तहरीर पर लंका पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया गया था। अब ब्लैकमेलिंग करने वाले दो आरोपियों को कमिश्नरेट पुलिस ने झांसी से गिरफ्तार कर लिया है। दोनों की पहचान गिरोह के सरगना झांसी जिले के गुरसराय थाना के सरसेड़ा निवासी चंद्रपाल परिहार और उसके साथी सगरा निवासी मोहम्मद नासिर के तौर पर हुई है।
पुलिस इसके खिलाफ अन्य जिलों से भी इनकी करतूतों के बारे में जानकारी हासिल कर रही है।

बता दें, चंद्रपाल परिहार खुद ने खुद को बीएचयू की छात्रा को आईपीएस अफसर अंकित गुप्ता बताकर व्हाट्सएप कॉल किया था। अपने व्हाट्सएप नंबर की डीपी पर वह डीआईजी लिख रखा था। कॉल करके वह कहता था कि वह लखनऊ से बोल रहा है। तुम्हारी अश्लील फोटो और वीडियो वायरल हो रही है। तुम न्यूड होकर अपनी बॉडी मैच कराओ। इधर से महिला पुलिसकर्मी वीडियो कॉल पर तुम्हारी बॉडी मैच करेंगी। तुम्हारे पास जल्द ही लोकल पुलिस भी जाएगी। यदि छात्रा या महिला मना करती थी तो उसे धमकाता था कि सहयोग नहीं करोगी तो अनावश्यक कानूनी पचड़े में फंस जाओगी। जब छात्रा चंद्रपाल की धमकी से डर कर व्हाट्सएप कॉल पर न्यूड हो जाती थी तो वह फोटो या वीडियो बना लेता था। इसके बाद चंद्रपाल उसी फोटो या वीडियो के सहारे ब्लैकमेल कर नासिर के बैंक अकाउंट में पैसा मंगवाता था। मुकदमे दर्ज होने के बाद पुलिस ने सर्विलांस और बैंक अकउंट से दोनों को ट्रेस कर पकड़ा है।

पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने दोनों आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करने का निर्देश लंका थाने की पुलिस को दिया है। कहा है कि अन्य जिलों की पुलिस से भी पता करें कि क्या चंद्रपाल और नासिर ने उनके यहां तो इसी तरह का साइबर क्राइम नहीं किया है। साथ ही, पुलिस कमिश्नर ने अपील की है कि जिस किसी के साथ इस तरह की घटना हुई हो वह नि:संकोच तहरीर दें। घबराने या डरने से अपराधियों का मनोबल मजबूत होता है। जो भी तहरीर आएगी, उसके आधार पर आरोपियों के खिलाफ प्रभावी तरीके से कार्रवाई की जाएगी।

You cannot copy content of this page