Breaking Crime Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस की बड़ी कार्रवाई : दिसंबर 2019 बवाल प्रकरण में फरार चार अभियुक्त गिरफ्तार, इन धाराओं में 2900 पत्थरबाजों पर कायम हुआ था मुकदमा

Varanasi : भेलूपुर थाने की पुलिस को बीती रात बड़ी सफलता हाथ लगी। थाने की पुलिस ने पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश के दिशा निर्देशों पर एसपी भेलूपुर प्रवीण कुमार सिंह के नेतृत्व में शहर में शान्ति व्यवस्था कायम रखने के लिए दिसंबर 2019 से 7CLA एक्ट में थे वांछित 4 वारंटियों को पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। ये सभी सीएए-एनआरसी के दौरान बजरडीहा इलाके में हुए प्रदर्शन में हुए बवाल में नामजद थे। फिलहाल सभी को जेल भेजा जा रहा है।

इस सम्बन्ध में एसीपी भेलूपुर प्रवीण कुमार सिंह ने बताया कि बीती रात भेलूपुर की पुलिस द्वारा थाना क्षेत्र में चेंकिग संदिग्ध व्यक्ति वाहन, तलाश वांछित वारण्टी अभियुक्त में की जा रही थी। इसी दौरान मुखबिर की सूचना के आधार पर मुकदमा अपराध संख्या 0915/2019 धारा की 147/ 148/ 149/ 188/ 298/ 332/ 353/ 153A/ 333/ 304A आईपीसी व 7 सीएलए एक्ट से संबंधित 4 वारण्टी अभियुक्तों को मकदूम बाबा बड़ी पट्टीया बजरडीहा से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

एसीपी भेलूपुर ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्त सोनू नेता उर्फ परवेज आलम निवासी एन12/446 -R-1 मकदूम बाबा बड़ी पट्टीया बजरडीहा थाना भेलूपुर, मुन्नु निवासी एन15/309 मुर्गिया टोला बजरडीहा थाना भेलूपुर, बुलबुल उर्फ मोहम्मद अंसार निवासी एन15/378 मुर्गिया टोला थाना भेलूपुर और मौसिम पुनिवासी एन15/502 अहमद नगर मुर्गिया टोला बजरडीहा थाना भेलूपुर के रहने वाले हैं।

एसीपी के अनुसार दिसंबर 2019 में बजरडीहा में शुक्रवार के दिन नमाज के बाद नमाजियों ने सीएए-एनआरसी को लेकर बड़ा प्रदर्शन किया था, जिसपर मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने सभी को समझा कर शांत करवा दिया था लेकिन कुछ अराजक तत्वों ने इसी दौरान पत्थरबाजी की थी जिसके बाद माहौल बिगड़ने पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था जिससे मची भगदड़ में गिरकर एक बच्चे की इलाज के दौरान मौत भी हुई थी। इसमें दर्ज हुए मुकदमें में इन्हे जांच के बाद आरोपी बनाया था और अब इनकी गिरफ्तारी हुई है।

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में पूरे देश में एक अल्पसंख्यक समुदाय 2019 में सड़क पर था। इसको लेकर समुदाय के लोगों को जिला प्रशासन समेत पुलिस समझा रही थी। 20 दिसंबर 2019 को ऐसे ही एक विरोध प्रदर्शन में बजरडीहा में अल्प संख्यक समुदाय के साथ जिला प्रशासन के वार्ता के दौरान अचानक माहौल बिगड़ गया था। पथराव, लाठीचार्ज और भगदड़ में नौ पुलिस कर्मी और 14 अन्य लोग गभीर रूप से घायल हो गए थे। हालांकि घायलों की संख्या अधिक थी। घायलों को बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। भगदड़ में घायल मोहम्मद सगीर (8) की रात में मौत हो गई। इसके चलते मदनपुरा क्षेत्र समेत कई महल्लों में तनाव था। इसको देखते हुए प्रशासन ने एहतियातन मोबाइल इंटरनेट सेवा भी बंद करवा दिया था। इस मामले में भेलूपुर पुलिस ने 28 नामजद और 2900 अज्ञात लोगों पर तीन मुकदमे दर्ज किये थे।

You cannot copy content of this page