Politics 

#Bihar : लालू राज में बाबू साहबों के सामने सीना तानकर चलते थे गरीब

तेजस्वी के बयान से सवर्णों में रोष, लोगों ने कहा जात-पात और अपराध से अलग नहीं हो सकता राजद

Ajit Mishra

Patna : लगता है बिहार सरकार चलाने की चाभी मिलने पर राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमों लालू के पुत्र तेजस्वी यादव अपने पिता लालू यादव की ही राह पकड़ेंगे जब पन्द्रह साल पहले बिहार में जात-पात के नाम पर बिहार में जमकर खून खराबा होता था।बता दें कि बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनावी सभाओं का दौर जारी है। जनता को लुभाने के लिए सभी पार्टियों के नेता के बीच खुद को बेहतर और विरोधी को बदतर बताने की होड़ मची हुई है।इस चक्कर में कई बार वो ऐसा बयान भी दे दे रहे हैं, जिससे बाद में उन्हें फजीहत का सामना करना पड़ रहा है।हाल ही में महागठबंधन उम्मीदवार के समर्थन में सासाराम क्षेत्र में चुनावी सभा करने पहुंचे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सवर्णों को लेकर ऐसा बयान दिया है, जिसपर विवाद शुरू हो गई है।उनके बयान से सवर्ण जातियों में रोष देखा जा रहा है।इसके पीछे एक स्पष्ट कारण भी दिख रहा है जिसमें राजद के चुनाव प्रचार में कहीं भी चुनाव प्रचार में सवर्णो की भागीदारी नगण्य है। पचास साल उम्र के दहलीज पर पहुंच चुके लोगों को ज्ञात होगा कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने एक जमाने में कहा था कि ‘भूरा बाल’ साफ करो, यानि भूमिहार, राजपूत ,ब्राह्मण, लाला को खत्म करो। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने भी कुछ इसी अंदाज में सासाराम के एक विधानसभा में चुनावी सभा के दौरान अगड़ी जाति के बारे में कहा कि जब लालू जी का राज था, तब गरीब लोग बाबूसाहब के सामने सीना तान के चलता था।तेजस्वी ने कहा कि हमारी सरकार आएगी तो हम सब लोगों को साथ लेकर चलेंगे. जो अपराध करेगा उसे सजा मिलेगी, जो कर्मचारी काम करेंगे उन्हें सम्मान मिलेगा. बस एक मौका दीजिये. 15 साल में जो व्यक्ति काम नहीं किया वो आगे 5 साल में क्या करेंगे?सवर्णो में खासकर राजपूत जाति के लोग तेजस्वी के बयान को सोंची समझी साजिश बता रहे है।इस बयान की वजह भी है कि इस चुनाव में राजद के प्रदेश अध्यक्ष होने के बावजूद राजपूत जाति के बुजुर्ग और मृदुभाषी नेता जगदानन्द सिंह कहीं भी चुनाव प्रचार में नहीं दिख रहे हैं।लोग कहते है कि तेजस्वी का भाषण उनका संस्कार बता रहा है।ये सब जात पात और आपराधिक संस्कार छोड़ने वाले नहीं हैं।जनता का इन लोगों पर विश्वास करना अपने आपको धोखा देना होगा।

error: Content is protected !!