Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

आरक्षी चालक यशवंत सिंह की मौत का मामला : भाई ने SHO रहे सुधीर सिंह पर FIR लिखवाया, प्रताड़ना का आरोप

Varanasi : लालपुर-पांडेयपुर थाने पर तैनात आरक्षी चालक यशवंत सिंह की गुरुवार की सुबह BHU ट्रामा सेंटर में मौत हो गई। आरक्षी चालक यशवंत सिंह ने 23 अप्रैल की भोर में नाइट ड्यूटी खत्म होने के बाद सरकारी जीप में खुद को गोली मार ली थी। यशवंत सिंह के भाई बलवंत सिंह ने थाना प्रभारी निरीक्षक रहे सुधीर कुमार सिंह के खिलाफ थाने में FIR लिखवाया है। FIR में भाई पर शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना का उन्होंने आरोप लगाया है।

बलवंत सिंह ने लालपुर पांडेयपुर थाने में दिए तहरीर में लिखा है कि 22 अप्रैल को यशवंत सिंह ने उनके व्हाट्सएप पर मैसेज किया था। संदेश में यशवंत सिंह ने SHO सुधीर सिंह पर बार-बार शारीरिक और मानसिक रुप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था।

बताया कि, मैसेज पढ़ कर वे घबरा गए। कॉल किया पर किसी सिपाही ने फोन उठाया। वह सही जानकारी नहीं दे रहा था। इसके बाद वे अपने भाई धीरेंद्र सिंह के साथ थाने पहुंचे। पता लगा कि यशवंत सिंह ने खुद को गोली मार ली है। उन्होंने आरोप लगाया कि SHO सुधीर सिंह के लगातार प्रताड़ना से उनके भाई आत्महत्या करने पर मजबूर हुए।

You cannot copy content of this page