धर्म-कर्म 

Friday Puja Tips : इन उपायों से सदैव आप पर बनी रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा,होगी धन वर्षा

हिन्दू धर्म में शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी को समर्पित है। इस दिन देवी लक्ष्मी की उपासना आपको सुख और समृद्धि दिला सकती है। शुक्रवार को कुछ विशेष उपाय करने से भी देवी लक्ष्मी आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी करती हैं। शुक्रवार को की गयी माँ लक्ष्मी की पूजा विशेष रूप से फलदायी होती है।माता लक्ष्मी की आराधना से धन -वैभव और सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है। हर कोई माँ लक्ष्मी को खुश करने के लिए इनकी विशेष रूप से पूजा करता है। शुक्रवार के कुछ आसान उपाय अपनाकर आप…

और पढ़ें।
Breaking Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

संत रविदास जन्मस्थली पहुंचे डीएम व सीपी: तैयारियों का जायजा लिया, सम्बन्धित को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

Varanasi : लंका क्षेत्र के सीर गोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर में रविवार को होने वाले संत रविदास के जन्मोत्सव की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। इसी क्रम में गुरूवार को वाराणसी के जिलाधिकारी एस. राजलिंगम और पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन मंदिर क्षेत्र का निरीक्षण करने पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने मंदिर परिसर के अलावा आसपास के पंडालों में रह रहे श्रद्धालुओं की व्यवस्था का निरीक्षण किया। दोनों अधिकारियों ने मंदिर ट्रस्ट प्रबंधन के लोगों से बात की। रसोई घर के अलावा लंगर आदि के स्थान देंखे। इस दौरान…

और पढ़ें।
Breaking Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

सज कर तैयार है सपनों का बेगमपुरा, सेवादारों के आने का क्रम जारी: रविदास जयंती पर शामिल हो सकते है कई दिग्गज नेता, आज जालंधर से रवाना होंगे संत निरंजन दास

Varanasi : संत रविदास के सपनों का गांव बेगमपुरा सज गया है। रविदास जयंती पर उनकी जन्मस्थली वाराणसी के सीरगोवर्धन में देश-विदेश से लाखों श्रद्धालुओं आते हैं। सभी संत रविदास के दरबार में मत्था टेकते हैं। सीरगोवर्धनपुर स्थित संत रविदास की जन्मस्थली पर उनकी जयंती को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। संत रविदास की जयंती 5 फरवरी को है। उनकी जयंती पर PM मोदी सहित राजनीति के बड़े दिग्गज संत रविदास के दरबार मत्था टेकने आ सकते हैं। इसमें उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ, पंजाब के मुख्यमंत्री, पूर्व…

और पढ़ें।
Breaking Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

श्री काशी विश्वनाथ धाम में लागू होगी नई व्यवस्था : चार चरणों में होगी मंदिर की सुरक्षा, जाने क्या होने वाला है बदलाव

Varanasi : महाशिवरात्रि से पूर्व श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव किया जाएगा। पुलिस के गर्भगृह तक जाने और विशिष्ट लोगों के दर्शन-पूजन कराने पर रोक लगाई जा सकती है। यह जिम्मेदारी मंदिर के कर्मचारी ही संभालेंगे। मंदिर की सुरक्षा के लिए गठित हाई पावर कमेटी की ओर से फरवरी के पहले सप्ताह तक इसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है। सीआईएसएफ ने सुरक्षा का जो खाका तैयार किया है, उसके मुताबिक, धाम की सुरक्षा चार चरणों की रहेगी। इसके अनुसार मुख्य द्वार पर श्रद्धालुओं को बेरोकटोक आवागमन…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

महाशिवरात्रि के उल्लास में डूबेंगे महादेव के भक्त, जाने फरवरी माह के व्रत और त्यौहार

साल के दूसरे महीने फरवरी को आने में ज्यादा समय नहीं बचा है। फरवरी का महीना कई मायने में खास रहता है। इस माह में ही हिंदू कैलेंडर का अंतिम माह फाल्गुन 6 फरवरी 2023 से शुरू हो जाएगा। आपको बता दें कि इस साल फरवरी का महीना धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इस बार फरवरी माह की शुरुआत माघ महीने की जया एकादशी से हो रही है। वहीं इस महीने में कई बड़े व्रत-त्योहार जैसे महाशिवरात्रि, सोमवती अमावस्या, फुलेरा दूज आदि आएंगे। आइए जानते है फरवरी 2023…

और पढ़ें।
Breaking Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

हाईवे चौड़ीकरण में शिफ्ट हुआ था वर्षों पुराना मंदिर : पुनर्निर्माण में बाद ग्रामीणों ने कराया प्राण प्रतिष्ठा, भंडारा और जागरण का आयोजन हुआ

Varanasi : राजातालाब चौराहे पर स्थित पंचक्रोशी पथ और राजमार्ग के किनारे स्थित सैकड़ों वर्ष पुराने काल भैरव मंदिर का पुनर्निर्माण होने के दो साल बाद मूर्ति की शुक्रवार को जन सहयोग से ग्रामीणों ने प्राण प्रतिष्ठा कर विशाल भंडारे का आयोजन किया। इस मौके पर कचनार, रानी बाज़ार गाँव के लोगों के अलावा आसपास गांवों से भी काफी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद रहे। इस पावन आयोजन के संयोजक काल भैरव बाबा के अनन्य भक्त बनारसी विश्वकर्मा थे इनके अलावा इस मौके पर क्षेत्र के गणमान्य लोगों सहित स्थानीय…

और पढ़ें।
Breaking Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

आज पूजी जाएंगी ज्ञान और विद्या की देवी: पंडालों में पहुंची वीणावादिनी की प्रतिमाएं, ये है पौराणिक मान्यता

Varanasi : आज वसंत पंचमी है। आज घरों और शिक्षण संस्थानों में ज्ञान, विद्या और कला की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती का पूजन होगा। वसंत पंचमी पर अभिजीत मुहूर्त में मां वाग्देवी का पूजन कर श्रद्धालु मां सरस्वती से ज्ञान का आशीर्वाद लेंगे। मां शारदा के पूजन के साथ ही फाग का उल्लास भी शुरू हो जाएगा। देर रात तक पंडालों में मां सरस्वती की प्रतिमाओं के पहुंचने का दौर चलता रहा। तीन सौ से अधिक प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं। आज घरों से लेकर शिक्षण संस्थानों में वसंत पंचमी…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

Basant Panchami 2023: बसंत पंचमी पर पीले रंग का क्या है महत्व, इस दिन पीला पहनना और खाना क्यों होता है शुभ, जानिए

बसंत ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा माना गया है। बसंत पंचमी के दिन ज्ञान, बुद्धि, कला की देवी मां सरस्वती की आराधना की जाती है। बसंत पंचमी पर सब कुछ पीला दिखता है, इस दिन पीले रंग का बहुत महत्व माना गया है। पीला रंग हिंदू धर्म में भी शुभ माना गया है। आइए जानते है इस दिन पीले रंग को इतना महत्व क्यों दिया जाता है। बसंत पंचमी पर पीले रंग का महत्व हिंदू धर्म में पीले रंग को शुभ माना गया है। पीला रंग शुद्ध और सात्विक…

और पढ़ें।
Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट धर्म-कर्म 

ढुंढीराज गणेश मंदिर के वार्षिकोत्सव में शामिल हुए मंडलायुक्त : विधि-विधान से किया पूजा-अर्चना, काशीवासियों के लिए की मंगल कामना

Varanasi : काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर स्थित ढुंढीराज गणेश मंदिर के वार्षिकोत्सव पर बुधवार को सुबह से ही दर्शन-पूजन करनेवाले पहुंचते रहे। इसी क्रम में मंदिर प्रांगण में कमिश्नर कौशल राज शर्मा भी पहुंचे। वहां उन्होंने भगवान श्रीगणेश की विधिवत पूजा-अर्चना किया। दुर्वा और प्रसाद अर्पित किये। मंडलायुक्त ने भगवान ढुंढिराज से सभी काशीवासियों के मंगल की कामना की। प्रचीन समय से श्रीकाशी विश्वनाथ दर्शन के लिए जानेवाले सबसे पहले इन्हीं का दर्शन कर अंदर प्रवेश करते हैं। प्रथम पूज्य श्रीगणेश भगवान शिव के पुत्र हैं। मान्यता है कि अगर…

और पढ़ें।
धर्म-कर्म 

बसंत पंचमी पर अगर मां सरस्वती को नहीं करना है नाराज, तो भूलकर भी न करें ये काम

हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि के दिन बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन संगीत व ज्ञान की देवी मां सरस्वती के पूजन का विधान है। ऐसी मान्यता है कि यदि बच्चे इस दिन मां सरस्वती का पूजन करें तो उन्हें मां का आशीर्वाद प्राप्त होता है और पढ़ाई के क्षेत्र में सफलता मिलती है। इस साल बसंत पंचमी का त्योहार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन मनाया जाएगा। इस दिन मां सरस्वती का विधि-विधान से पूजन करने…

और पढ़ें।

You cannot copy content of this page