Varanasi 

सात फेरे लेकर एक दूजे के हुए 34 जोड़े : संपन्न हुआ सामूहिक विवाह कार्यक्रम

Varanasi : गरीबों की बेटियों की शादी कराने के के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना शुरू की है। इस योजना के तहत शुक्रवार को विकास खंड आराजीलाईन परिसर में शादी समारोह का आयोजन किया गया है।

एक दिव्यांग जोड़ी सहित कुल 34 जोड़ों की हिदू धर्म के मुताबिक शादी कराई गई। सात फेरे लेने के बाद नव दंपती एक-दूजे के हुए। अधिकारी व जन प्रतिनिधियों ने उन्हें आर्शीवाद दिया। जिसमें विकास खंड क्षेत्रों से आए 34 जोड़ों ने अग्नि के सात फेरे लेने के बाद दांपत्य सूत्र में बंधे।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में रहे रोहनिया विधायक डा. सुनिल पटेल व आराजीलाईन ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि डा महेंद्र सिंह पटेल ने नवविवाहित जोड़ों को उपहार व आशीर्वाद देकर सरकार द्वारा मिलने वाली सभी योजनाओं का लाभ दिया। जिसमें बर्तन, कपड़े व जेवर के अलावा अन्य दहेज के सामान दिया गया।

वैदिक मंत्रोच्चार के साथ नवविवाहिता की शादी संपन्न कराई गई। अग्नि के सात फेरे लेने के बाद वर वधु ने एक दूसरे के गले में जय माला पहना कर साथ जीने मरने की कसमें ली। अतिथियों ने सभी नवविवाहित जोड़ों को उपहार देकर आशीर्वाद दिया। बतौर मुख्य अतिथि रोहनिया विधायक डा. सुनील पटेल ने कहा कि पहले लोग बेटियों को बोझ समझते थे लेकिन अब सरकार बेटियों की शिक्षा व विवाह की जिम्मेदारी ले ली है।

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत शादी करने के बाद कन्या के खाते में समाज कल्याण विभाग की ओर से 35 हजार रुपये भेजा जाता है। अतिथियों का स्वागत खंड विकास अधिकारी विजय जायसवाल ने किया।

इस अवसर पर आराजीलाईन ब्लाक प्रमुख नगीना सिंह पटेल प्रतिनिधि डा महेंद्र सिंह पटेल, खंड विकास अधिकारी विजय जायसवाल, जिला पंचायत सदस्य राजेंद्र पटेल, अपनादल ज़िलाध्यक्ष डा नरेंद्र पटेल, एडीओ एसके प्रमोद कुमार, प्रकाश चन्द्र चौरसिया, पूर्व प्रधान मुहम्मद अनवर, संजीव सिंह, शिवकुमार प्रधान, राजकुमार गुप्ता, अनिल कुमार, राजेश कुमार पटेल सहित बड़ी संख्या में वर एवं वधू पक्ष के लोग उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page