Politics Varanasi उत्तर प्रदेश 

स्वर्वेद महामंदिर धाम का मुख्यमंत्री ने लिया जायजा : BLW सभागार में CM Yogi ने पार्टी पदाधिकारियों संग की बैठक, बोले- विश्वनाथ धाम लोकार्पण के बाद काशी आध्यात्मिक पर्यटन का नया केंद्र होगा

Varanasi : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार सुबह करीब साढ़े बजे वाराणसी पहुंचे। उनका हेलीकॉप्टर सीधा चौबेपुर के उमरहां स्थित स्वर्वेद महामंदिर धाम पहुंचा, जहां उन्होंने करीब आधे घंटे तक धाम का अवलोकन किया। उसके बाद बरेका गेस्ट हाउस में मुख्यमंत्री ने काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के लिए वाराणसी आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन की तैयारियों की समीक्षा की।

बरेका में प्रशाशनिक अधिकारियों के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्य, विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने उनका मुख्यमंत्री का स्वागत किया। सीएम चौबेपुर के नजदीक उमरहा में स्वर्वेद मंदिर (जहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम प्रस्तावित है) का स्थलीय निरीक्षण कर मौके पर हुए तैयारियों को देखा। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उमरहां स्थित स्वर्वेद महामंदिर धाम में विहंगम योग समाज के वार्षिकोत्सव में भाग लेना प्रस्तावित हैं। रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हेलीकॉप्टर से स्वर्वेद महामंदिर प्रांगण पहुंचे। उनका स्वागत विहंगम योग के सतगुरु आचार्य स्वतंत्रदेव महाराज व संत प्रवर विज्ञान देव महाराज व जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने किया।

गुरूकुल के दर्जनों बटुकों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शंखनाद कर मुख्यमंत्री का भव्य स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 300 मीटर दूर स्वर्वेद महामंदिर धाम पहुंचकर यहां करोड़ों रुपए की लागत से बनाए जा रहे स्वर्वेद महामंदिर के प्रथम तल का अवलोकन किया।

उन्होंने शिल्पकलाओं व राजस्थानी शिल्पकारों के तरासे जा रहे पत्थरों का भी निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री कार्यक्रम के ग्राउंड, हेलीपैड, विहंगम योग के अनुयाईयों के बैठने, रहने व यातायात की जानकारी ली। इसमें देश व विदेश के लाखों अनुयाई भाग लेंगे।

पार्टी पदाधिकारियों संग बैठक

तत्पश्चात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी के बीएलडब्ल्यू सभागार में पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर प्रधानमंत्री जी के दौरे से संबंधित किए जा रहे तैयारियों के विस्तार से समीक्षा कर आवश्यक दिशा- निर्देश दिए।

इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल, भाजपा प्रदेश सह प्रभारी सुनील ओझा सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

काशी पर देश और दुनिया भर के लोगों की निगाहें

सीएम ने कहा कि श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद वाराणसी आध्यात्मिक पर्यटन का एक नया केंद्र होगा। सदियों के बाद 13 दिसंबर को काशी में एक ऐतिहासिक आयोजन के हम सभी साक्षी बनेंगे।

इस दौरान काशी पर देश और दुनिया भर के लोगों की निगाहें रहेंगी। इसलिए ऐसे महत्वपूर्ण अवसर पर काशी से एक बड़ा संदेश जाना चाहिए। शहर की साफ-सफाई से लेकर साज-सज्जा तक भाजपा के अनुशासित कार्यकर्ता बारीकी से ध्यान दें।

संगठन के स्वयंसेवक पुलिस और प्रशासन से समन्वय बनाकर आयोजन को इस तरह से सफल बनाएं कि उसकी चौतरफा प्रशंसा हो।

जन-जन की सहभागिता सुनिश्चित कराएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण में जन-जन की सहभागिता सुनिश्चित कराएं। लोकार्पण से पहले और उसके बाद एक माह तक काशी में उत्सव जैसा माहौल दिखाई देना चाहिए। गंगा घाटों से लेकर शहर की सड़कों, गलियों और मुहल्लों में काशी विश्वनाथ धाम के इतिहास और उसके नवनिर्माण की गाथा जन-जन को सुनाई जाए।

विदेशी हमलावरों ने हमारी संस्कृति और सभ्यता को छिन्न-भिन्न करने का कई बार असफल प्रयास किया था। लेकिन, आज एक नया भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूरी दुनिया में अपना विशेष स्थान बना रहा है। काशी में होने वाला आयोजन अयोध्या से भी भव्य और दिव्य हो, हमें ऐसा सामूहिक प्रयास करना है।

You cannot copy content of this page