Breaking Delhi Lucknow Politics Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

CM Yogi ने की अगवानी, जगह-जगह हुआ स्वागत : Varanasi में बोले Nepal के PM- बाबा विश्वनाथ का दर्शन पाकर हम धन्य हो गए, सपत्नीक कई मंदिरों में किए पूजन

Varanasi : नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा रविवार को पत्नी आरजू राणा देऊबा के साथ काशी आये। काशी आगमन पर लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी और भव्य स्वागत किया।

एयरपोर्ट से प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा काशी के कोतवाल काल भैरव मंदिर, श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर और ललिता घाट स्थित नेपाली पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे। विधिवत दर्शन-पूजन किया। CM योगी आदित्यनाथ नेपाल के प्रधानमंत्री के साथ थे।

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए पहुंचने पर नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा और उनकी धर्म पत्नी आरजू राणा देउबा नवनिर्मित श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर को भाव विभोर हो उसे निहारते रहे। काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा पर चढ़े माला को नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा को बाबा के आशीर्वाद स्वरूप पहनाया।

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा रविवार की सुबह श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। उन्होंने बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ का दर्शन पूजन किया। इसके बाद उन्होंने कहा कि बाबा के दर्शन पाकर हम इस जन्म में धन्य हो गए। इसके लिए हम भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को धन्यवाद देते हैं। रविवार की सुबह प्रधानमंत्री मुख्य द्वार से होते हुए परिसर के उत्तरी प्रवेश द्वार पर गए। सबसे पहले गर्भ गृह में जाकर बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ का षोडशोपचार पूजन किया।

प्रधानमंत्री के आगमन पर श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर को भव्य रूप से सजाया गया था, जहां वैदिक मंत्रोच्चार और डमरु वादन कर उनका स्वागत हुआ। दर्शन-पूजन करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंगवस्त्रम रुद्राक्ष की माला, प्रसाद के साथ स्मृति चिन्ह के रूप में बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ की रेप्लिका भेंट की। इसके बाद प्रधानमंत्री श्रीकाशी विश्वनाथ धाम से होते हुए ललिता घाट स्थित पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे। उन्होंने पशुपतिनाथ मंदिर में विधि-विधान से पूजन अर्चन किया।

प्रधानमंत्री ने पशुपतिनाथ मंदिर में बनने वाले वृद्ध आश्रम का भूमि पूजन किया। पशुपतिनाथ मंदिर ट्रस्ट की ओर से अध्यक्ष स्वामी ओंकारानंद, सचिव गोपाल अधिकारी और मैनेजर रोहित कुमार ने अंगवस्त्रम और प्रसाद भेंट किया। नेपाल के प्रधानमंत्री ने वृद्ध आश्रम में रह रही महिलाओं और विद्यार्थियों से कुशल क्षेम पूछा।

मंदिर में सरकार की ओर से सुविधाओं को बढ़ाने का आश्वासन दिया। इसके बाद प्रधानमंत्री श्रीकाशी विश्वनाथ धाम होते हुए पुनः अपने गंतव्य को रवाना हो गए।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव सचिव सूचना संजय प्रसाद, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा, अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी निखिलेश कुमार मिश्रा, विशेष कार्याधिकारी उमेश कुमार सिंह सहित बड़ी संख्या में जिले के अधिकारी मौजूद थे।

काशी के पशुपतिनाथ

गौरतलब है, मंदिर का निर्माण नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित पशुपतिनाथ मंदिर के तर्ज पर किया गया था। खास ये कि इस मंदिर का निर्माण पूरी तरह से लकड़ी से बना है। इस तरह काष्ठ कला का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। ये मंदिर काशी विश्वनाथ धाम से सटा हुआ है। ललिता घाट के पास स्थित पशुपतिनाथ मंदिर देख एक बारगी पूरी तरह से यही अहसा होगा जैसे काठमांडु के पशुपतिनाथ मंदिर के सामने खड़े हों। वैसे इसे काशी का पशुपतिनाथ मंदिर भी कहा जाता है।

हर जगह पारंपरिक स्वागत

काशी आगमन पर नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा का भव्य स्वागत किया गया। प्रमुख चौराहों-तिराहों पर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए लोक कलाकारों द्वारा मनोहारी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर भव्य स्वागत किया गया। पारंपरिक तौर पर स्‍वागत के बाद गणमान्‍य लोगों से परिचय भी कराया गया। रास्‍ते में स्‍कूली छात्रों और सामाजिक संस्‍थाओं की ओर से उनका स्‍वागत किया गया, सर्किट हाउस के ठीक सामने लगे मंच पर अयोध्या से आए माता प्रसाद वर्मा और शीतला प्रसाद वर्मा के साथ बीस कलाकार पारंपरिक ड्रेस में अवधी लोक नृत्य फरूवाही की प्रस्तुति करते रहे। ललितपुर से आये कलाकारों ने पारंपरिक राई नृत्य करके नेपाली प्रधानमंत्री सहित उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत किया।
इससे पहले नेपाल के प्रधानमंत्री को लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी और स्वागत किया।

You cannot copy content of this page