Politics Varanasi उत्तर प्रदेश 

काशी से जुड़े प्रोजेक्ट समयबद्धता व गुणवत्ता के साथ पूर्ण करें : समीक्षा बैठक में बोले CM Yogi- दीपावली से पूर्व सड़कें हो गड्ढा मुक्त, रामलीला के आयोजनों पर रखें विशेष ध्यान

Varanasi : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को अपने दो दिवसीय पर बनारस पहुंचे। तय समय पर उनका हेलीकाप्टर पुलिस लाइन परेड ग्राउंड पर उतरा। यहां उनकी आगवानी जन प्रतिनिधियों और ज़िले के आला आधिकारियों ने की। उन्होंने दौरे के पहले दिन सर्किट हाउस सभागार में विकास विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि काशी से जुड़े प्रोजेक्ट समयबद्ध व गुणवत्ता से पूर्ण करें। वाराणसी में कोरोना नियंत्रण में अच्छा काम हुआ है जो सराहनीय है, इसके लिए यहां के जनप्रतिनिधि, प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग, स्वैच्छिक संगठन बधाई के पात्र हैं। वैक्सीनेशन तेजी से कर दो-तीन माह में सभी 18 प्लस का वैक्सिनेशन पूर्ण करें। नवरात्रि, दशहरा पूर्व मंदिरों में साफ-सफाई, लाइटिंग, कूड़ा निस्तारण आदि व्यवस्था करें। विजयादशमी के भव्य आयोजन की व्यवस्था करें। मूर्ति विसर्जन ठीक से कराएं। बेहतर संवाद बनाकर कार्य कराएं। रामलीला के आयोजनों पर भी ध्यान रखें। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर नवरात्रि, विजयादशमी के दौरान शहर को लाइटिंग, साफ-सफाई से सुसज्जित करें। काशी में देश-दुनिया के श्रद्धालु व पर्यटक आते हैं। यहां के विकास व पर्यटन कार्यों को देखते हैं। व्यापारिक संगठनों व बैंक आदि वित्तीय संस्थाओं के साथ संवाद कर उनके यहां सीसीटीवी कैमरा लगवाएं। यह सुरक्षा देगा। अब शिक्षा संस्थान भी खुल गए हैं। प्रशासन, पुलिस अन्य संस्थाओं से संवाद बनाए। छोटी-छोटी समस्याओं को तत्काल निस्तारण करें, ताकि वह बड़ा रूप नहीं ले सके। चिकित्सालय में स्ट्रेचर, एंबुलेंस, शव वाहन, मरीजों को तत्काल अटेंड करने जैसे कार्य संवेदनशीलता से करें। काशी में पुलिस कमिश्नरेट होने व सुरक्षा के माहौल का संदेश जाए।

बौद्ध भिक्षु का दल आएगा सारनाथ

सीएम ने बताया कि 20-21 अक्टूबर को सारनाथ में श्रीलंका के बौद्ध भिक्षु का दल आएगा। इसमें अन्य देश के भी बौद्धजन होंगे। उसकी अभी से व्यवस्था देख ले।

दीपावली से पहले गड्ढा मुक्त हो सड़कें

विकास कार्यों की समीक्षा में मुख्यमंत्री ने सड़कों के गड्ढे मुक्ति पर जोर देते हुए कहा कि सभी विभाग अपनी समस्त सड़के दीपावली से पूर्व गड्ढा मुक्त करना सुनिश्चित करें। नगर क्षेत्र की सड़कें जहां विजयादशमी पर मूर्ति विसर्जन होंगे, वहां उन रूटों को प्राथमिकता पर दशहरा से पूर्व दुरुस्त करें। उन्होंने सड़कों से संबंधित सभी विभागों के अधिकारी को एक-एक कर बिंदुवार उनकी सड़के, गड्ढे मुक्ति की प्रगति तथा पूर्णतः गड्ढा मुक्ति होने के बारे में पूछताछ की। मुख्यमंत्री ने हर घर नल परियोजना की विस्तार से पूछताछ की और ऐसे गांव जहां हर घर नल कनेक्शन हुए उनकी चेकिंग कराने को भी कहा।

महिलाओं को व्यवसाय से जोड़ें

उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में मत्स्य पालन, पशुपालन की बहुत संभावनाएं हैं। ग्रामीण महिला स्वयं सहायता समूहों को बनाए और इन व्यवसाय से जुड़े। महिला समूह के उत्पादों की मार्केटिंग को भी प्रोत्साहित करें। जनपद में 683 सामुदायिक शौचालय बन चुके हैं। 619 शौचालयों में महिला समूहों को केयरटेकर रखा गया। जिसका उन्हें 2 करोड़ 38 लाख रुपया केयरटेकर को भुगतान भी किया जा चुका है। गत गेहूं खरीद का समस्त 33.62 करोड़ रुपए किसानों को भुगतान हो चुका है। देव दीपावली तक 500 नावे सीएनजी में कन्वर्ट हो कर चलेंगी।

110 बड़ी प्रमुख परियोजनाएं निर्माणाधीन

वर्तमान में जनपद में 8546.86 करोड़ रूपये की 110 बड़ी प्रमुख परियोजनाएं निर्माणाधीन है। जिसमें जौनपुर वाराणसी, आजमगढ़ वाराणसी, वाराणसी गाजीपुर, फोरलेन निर्माण, वाराणसी रिंग रोड फेज 2, बीएचयू व कैंसर हॉस्पिटल में डॉक्टर नर्सेज हॉस्टल, धर्मशाला निर्माण, कोनिया सलारपुर पर पुल, कालिकाधाम वरुणा नदी पर पुल, कज्जाकपुरा आरओबी, लहरतारा फुलवरिया पर आरओबी, पुल व सड़क निर्माण, कैंट से पड़ाव रोड, महगांव में आईटीआई, गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक पर्यटन विकास, नदेसर, सोनभद्र तालाब का विकास व सुंदरीकरण, टाउनहॉल, बेनियाबाग, सर्किट हाउस के समीप वाहन पार्किग का निर्माण, खिड़किया घाट पुनर्विकास, दशाश्वमेध घाट पुनर्विकास, ओल्ड काशी के वार्डो की रीडिवेलपमेंट कार्य, करखियाव में पैक हाउस निर्माण, अलईपुर, नगवा में विद्युत उप केंद्रों का निर्माण आदि कार्य हैं। वाराणसी के विकास पर्यटन सुविधा व जन सहूलियत हेतु सारनाथ का विकास, केंट-गोदौलिया रोपवे, कमिश्नरी कंपाउंड में एकत्रित मंडलीय कार्यालय निर्माण की भावी परियोजनाएं तैयार की गई हैं। मोहनसराय से कैंट तक व वाराणसी से गोपीगंज तक सड़क चौड़ीकरण कार्य को मंत्रिपरिषद से अनुमोदन हो गया है।

अब तक तीन लाख से ज्यादा गोल्डन कार्ड बने

जनपद में जन आरोग्य योजना में अब तक 70 हजार लोगों का उपचार विभिन्न प्राइवेट व सरकारी अस्पतालों में किया जा चुका है। अब तक तीन लाख से ज्यादा गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं। फीवर ट्रेकिंग में 75000 से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं। कोरोना की दोनों लहर में 19 लाख जांचे की गई। कोरोना पॉजिटिव पाए गए लोगों में 98.86 फ़ीसदी रिकवरी हुई। वर्तमान में कोरोना का कोई एक्टिव केस वाराणसी जिले में नहीं है। अब तक जनपद में 25 लाख 69 हजार कोविड वैक्सीनेशन हो चुका है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने निर्माणाधीन परियोजनाओं का तथा जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने विकास कार्यों के प्रगति का पावर प्ले के द्वारा प्रेजेंटेशन किया।

ये रहे मौजूद

इस अवसर मंत्री अनिल राजभर, मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविन्द्र जायसवाल, महापौर मृदुला जायसवाल, एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा सहित जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

You cannot copy content of this page