Breaking Crime Varanasi 

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 : साल्वर गैंग का सरगना राजेश महतो गिरफ्तार

मुकदमा दर्ज होने के बाद विवेचना में राजेश का नाम आया था सामने

आरोपी को बिहार से गिरफ्तार कर लाया गया बनारस

Varanasi : कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 में पुलिस लाइन में शारीरिक मानक परीक्षा के समय बड़े पैमाने पर पैसा लेकर साल्वरों के माध्यम से धांधली की शिकायत हुई थी। शिकायत पर कैंट थाने में साल्वर गैंग के सरगना राजेश महतो के विरुद्ध मुकदमा कायम किया गया था। वांछित साल्वर गैंग के लीडर को कैंट पुलिस ने उसके घर नालंदा (बिहार) से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकडे गए अभियुक्त का मंगलवार को पुलिस ने चालान कर दिया।

गिरफ्तारी के संबंध में ट्रेनी आईपीएस सीओ कैंट मोहम्मद मुश्ताक ने बताया कि एसएसपी प्रभाकर चौधरी के निर्देश पर आरक्षी पुलिस भर्ती प्रक्रिया वर्ष 2018 में बड़े पैमाने पर शारीरिक मानक परीक्षा के समय पैसा लेकर अभ्यर्थियों को साल्वरों के माध्यम से टीसीएस कंपनी के कुछ कमर्चारियों से मिली भगत कर फर्जी बायो मैट्रिक कर बड़े पैमाने पर धांधली की गयी थी।

कहा, मुकदमा पंजीकृत कर करवाई शुरू की गयी तो विवेचना में साल्वर गैंग के सरगना के रूप में राजेश कुमार महतो निवासी मुस्तफापुर थाना गिरिया जिला नालंदा बिहार का नाम सामने आया। पुलिस टीम गठित कर कैंट थाने से नालंदा उसके घर भेजी गयी जहां दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में राजेश महतो ने बताया कि उत्तर प्रदेश कांस्टेबल भर्ती 2018 में 15 से 20 साल्वर बैठाकर हमलोगों ने काफी पैसे कमाए। बिहार के नालंदा के बड़े कोचिंग सेंटरों के इंटैलिजेंट लड़कों को पैसे का लालच देकर अभयर्थियों की जगह बैठाये थे। यहां ये लोग जांच प्रक्रिया में पकडे गए और जेल में हैं।

गिरफ्तारी करने वाली टीम में सीओ मोहम्मद मुश्ताक, इंस्पेक्टर कैंट राकेश कुमार सिंह, दरोगा अशोक कुमार, मोहम्मद शाबान खान, हेडकांस्टेबल जयप्रकाश सिंह, कांस्टेबल रामानंद यादव और मिथिलेश कुमार शामिल हैं।

You cannot copy content of this page