Varanasi उत्तर प्रदेश 

संविधान दिवस : Police और PAC के जवानों ने ली एकता और अखंडता की शपथ, डाकघरों, प्रशासनिक कार्यालयों व BLW सहित शहर भर में हुए विविध आयोजन

Varanasi : संविधान दिवस के अवसर पर शुक्रवार को पुलिस कार्यालय, पुलिस लाइन एवं जनपद के समस्त थानों/चौकीओं पर नियुक्त अधिकारी, कर्मचारीगण द्वारा शपथ ग्रहण किया गया। भारत के संविधान ने भारत को एक संप्रभु समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया। इसने प्रत्येक भारतीय के लिए न्याय, विचार और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व की घोषणा की। यह विभिन्न देशों के संविधान जैसे फ्रांसीसी संविधान, जापान के संविधान आदि से प्रभावित है। भारत का संविधान राजनीतिक संरचना के निर्माण खंडों और सरकार के कर्तव्यों का वर्णन करता है। यह प्रत्येक भारतीय को एक मानव के रूप में उनके मौलिक अधिकार देता है। यह एक ऐसे देश को दर्शाता है जहां उनके लोग अपने लोगों पर शासन करते हैं। इसने सभी के लिए समानता की घोषणा की। डॉ बीआर अंबेडकर की 125वीं जयंती, 19 नवंबर 2015 को प्रधान मंत्री मोदी द्वारा 26 नवंबर को भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया।  आज संविधान दिवस 2021 की 7वीं वर्षगांठ के अवसर पर वाराणसी ग्रामीण के समस्त पुलिस कार्यालय, क्षेत्राधिकारी कार्यालय व थानों द्वारा संविधान की उद्देशिका को पढ़कर भारतीय संविधान में दिये गये मूल कर्तव्यों का पालन करने, संवैधानिक आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्रध्वज व राष्ट्रीय प्रतीकों का सम्मान करने, देश की संप्रभुता अखण्डता की रक्षा करने का शपथ ग्रहण किया गया।

34वीं वाहिनी के परेड ग्राउंड में राष्ट्रीय एकता और अखंडता की शपथ लेते हुए  हर्षोल्लास के साथ संविधान दिवस मनाया गया। सेनानायक डॉ राजीव नारायण मिश्र, आईपीएस ने जवानों को संबोधित करते हुए बताया कि आज ही के दिन वर्ष 1949 में देश की संविधान सभा ने वर्तमान संविधान को विधिवत रुप से अपनाया था, यद्यपि इसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था‌। वर्ष 2015 में संविधान के निर्माता डॉक्टर अंबेडकर के 125वें जयंती वर्ष के अवसर से, इस दिवस को संविधान दिवस के रुप में मनाया जाता है। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में नरेश सिंह यादव, सैन्य सहायक, देवपाल, शिविरपाल, आरटीसी प्रभारी राजनेति राय, राजेश कुमार दुबे, सूबेदार मेजर सहित 34वीं वाहिनी पीएसी वाराणसी में उपस्थित समस्त अधिकारी/कर्मचारीगण तथा आरटीसी के रिक्रूट सम्मिलित हुए।

डाक विभाग द्वारा वाराणसी परिक्षेत्र के सभी डाकघरों और प्रशासनिक कार्यालयों में 72वां संविधान दिवस मनाया गया। क्षेत्रीय कार्यालय में वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल  कृष्ण कुमार यादव ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ, संविधान की उद्देशिका का पाठ और वाचन किया, जिसे सभी ने दोहराते हुए संविधान में निहित मूल्यों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की। इस अवसर पर पोस्टमास्टर जनरल ने कहा कि, भारतीय संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान ही नहीं, विश्व के लोकतान्त्रिक इतिहास का अद्वितीय दस्तावेज है। हमारे संविधान का प्रत्येक अनुच्छेद हर नागरिक के अधिकारों की गारंटी है और कर्तव्य का पवित्र स्मरण है।कहा कि हमारा संविधान समानता के अधिकार और लोकतांत्रिक दृष्टिकोण के साथ प्रगति व समृद्धि का रास्ता दिखाता है। इस अवसर पर सहायक निदेशक राम मिलन, कृष्ण चंद्र, महेंद्र प्रताप वर्मा, अजय कुमार, श्रीकान्त पाल, वीएन दिवेधी, संतोषी कुमारी राय, अमरेन्द्र कुमार वर्मा, राजेन्द्र प्रसाद यादव, श्रीप्रकाश गुप्ता, अभिलाषा राजन, श्रवण कुमार, राहुल कुमार, विजय कुमार, शम्भु प्रसाद, शशिकांत, रामचंद्र यादव सहित तमाम अधिकारियों – कर्मचारियों ने संविधान दिवस पर शपथ ली।

रेलवे बोर्ड के दिशा निर्देशन पर शुक्रवार को बनारस रेल इंजन कारखाना में हर्षोल्लास के वातावरण में संविधान दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर महाप्रबन्‍धक अंजली गोयल ने प्रशासनिक भवन के प्रांगण में भारतीय संविधान के उद्देशिका का वाचन करते हुए शपथ दिलाई एवं भारतीय संविधान के मूल कर्तव्‍यों का पाठ कराया साथ ही विस्तारपूर्वक उद्देशिका एवं मूल कर्तव्‍यों, संवैधानिक मूल्‍यों के विषय में बताया। इस अवसर पर बरेका के सभी प्रमुख मुख्य विभागाध्‍यक्षगण के अतिरिक्‍त सभी विभाग के अधिकारिगण, रेलवे सुरक्षा बल, सिविल डिफेंस, सेंट जॉन्स एंबुलेंस ब्रिगेड एवं काफी संख्‍या में कर्मचारियों के साथ ही महिला कर्मी भी उपस्थित रही।

You cannot copy content of this page