COVID-19 Exclusive Health Varanasi 

@aajexpressdgtl #Exclusive Corona Update : शहर में बने आठ हॉटस्पॉट एरिया की वजह दवा कारोबारी की मनमानी

माना होता डॉक्टरों की बात तो शायद न होती ऐसी स्थिति

दवा कारोबारी के संपर्क से शहर में अब तक मिले दर्जनभर कोरोना संक्रमित

Varanasi : जिलें में अब तक 61 कोरोना पॉजिटिव केस मिले है। जिनमें से एक कि मौत हो चुकी है। आठ ठीक होकर घर जा चुके हैं, जबकि 52 संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है। बनारस में पहला कोरोना पॉजिटिव केस 21 मार्च को फूलपुर के छि‍तौरा गांव से मि‍ला था। जिसके कोरोना ने अपनी चेन बनानी शुरू कर दी। आज आलम यह कि बनारस रेड जोन एरिया में शामिल हो गया।

शहर को रेड जोन बनाने में अहम हाथ मंडुआडीह के मड़ौली निवासी दवा कारोबारी और दिल्ली से आये जमातियों का है। जमात से जुड़े लोग 17, दवा व्‍यवसायी से जुड़े करीब 12 लोग कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। संक्रमित दवा कारोबारी की मनमानी और लापरवाही के चलते शहर में आठ इलाके हॉटस्पॉट बन गए हैं। दवा कारोबारी की लापरवाही के चलते निवासी स्थल मड़ौली के अलावा उसके यहां काम करने वाले कर्मचारियों, उसके ग्राहकों के भी संक्रमित होने के बाद अन्य इलाकों को सील कर पाबंदियां लगा दी गई हैं। 

संपर्क में आने से ये लोग हुए संक्रमित

दवा कारोबारी के संपर्क में आने से परिवार के चार सदस्य, चार कर्मचारी, दो पड़ोसी दुकानदार, एक पहड़िया का दवा कस्टमर, एक दवा ट्रांसपोर्टर संक्रमित हुआ है। दवा कारोबारी के यहां काम करने वाले कर्मचारियों के संक्रमित मिलने के बाद से सप्तसागर मंडी, महामृत्युंजय महादेव, चौक के काशीपुरा, छोटी पियरी, पहड़िया की संजयनगर कॉलोनी, सूजाबाद और महमूरगंज के एक अपार्टमेंट को भी कारोबारी के संपर्क में आये ट्रांसपोर्टर के पॉजिटिव मिलने के बाद सील कर दिया गया। 

जांच जारी

सूजाबाद निवासी दवा कारोबारी के संपर्क में आने वाले किसी के संक्रमित होने की फिलहाल खबर नहीं है। दवा कारोबारी के संपर्क में आये लोगों से जुड़े लोगों की भी पहचानकर उनकी जांच कराई जा रही है। यही नहीं, दवा कारोबारी के बड़ागांव, लोहता स्थित रिश्तेदारों की भी सूची तैयार की गई है, जिनकी जांच कराई जानी है।

पुलिसकर्मियों में वितरण किया था मट्ठा

दवा कारोबारी की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। जिसमे वह एक कार से अपने कुछ दोस्तों के संग लॉकडाउन में शहर के विभिन्न क्षेत्रों में मट्ठा बांट रहा था।

चेतावनी नहीं मानी

स्वास्थ्य विभाग ने दावा किया था कि 20 अप्रैल को सैंपल लेने के साथ ही चेतावनी के साथ दवा कारोबारी को होम क्वॉरेंटाइन के लिए कहा गया था। उसे घर में भी सबसे दूरी बनाकर रहने को कहा गया था। बावजूद इसके दवा कारोबारी 24 अप्रैल तक सप्तसागर स्थित दवा मंडी आता रहा। दवा कारोबारी सप्तसागर दवा मंडी क्षेत्र में तैनात पुलिसकर्मियों के साथ ही अन्य व्यापारिक संगठनों के साथ लगातार भ्रमण कर रहा था।

दर्ज हुआ है मुकदमा

पॉजिटिव दवा कारोबारी के खिलाफ मंडुआडीह थाने में एफआईआर कायम हुआ। मुकदमा पुलिस की ओर से कायम किया गया है। सोशल मीडिया पर तीन वीडियो क्लिप्स वायरल हुआ था। इनमें दवा कारोबारी बगैर मॉस्क लगाए घूम-घूम कर पुलिसकर्मियों को मट्ठा आदि दे रहा था। डॉक्टरों के निर्देश को न मान कर घोर लापरवाही कर दूसरों के जीवन के लिए खतरा पैदा करने के आरोप में दवा कारोबारी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और आपदा प्रबंध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

You cannot copy content of this page