Breaking Delhi Lucknow Politics Varanasi उत्तर प्रदेश ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

साझा विरासत के विकास की गति पर चर्चा : बोले CM Yogi- मेरा व्यक्तिगत लगाव नेपाल के साथ, हम मिलकर आगे बढ़ेंगे तो दोनों देश आस्था, विकास और रोजगार की संभावना पर काम कर सकते हैं

Varanasi : नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा रविवार को पत्नी आरजू राणा देऊबा के साथ काशी आये। काशी के कोतवाल काल भैरव मंदिर, श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर और ललिता घाट स्थित पशुपतिनाथ मंदिर में विधिवत दर्शन-पूजन के बाद एक होटल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक की।

प्रधानमंत्री के साथ आए डेलीगेट को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मेरा व्यक्तिगत लगाव नेपाल के साथ है। नेपाली नागरिकों के प्रति हमारे देशवासियों में सद्भाव, सम्मान और लगाव रहता है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच संवाद होना चाहिए।

कहा, संवाद सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत के साथ जुड़कर विकास के संबंध में होना चाहिए। यही दोनों देशों की जनता भी चाहती है। काशी-काठमांडू और अयोध्या-जनकपुर सिस्टर सिटी है। साझा विरासत के साथ हम विकास की गति को आगे बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे देश के हिंदू धर्मावलंबी नेपाल के काठमांडू में पशुपतिनाथ मंदिर, जनकपुर में मां जानकी के मंदिर में दर्शन के लिए लालायित रहते हैं।

बोले, नेपाल की नागरिक काशी और अयोध्या में आकर दर्शन को इच्छुक रहते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा और उनकी विजन के अनुसार बौद्ध-रामायण सर्किट की योजना को आगे बढ़ाने के लिए एक और अध्यात्म और सांस्कृतिक परंपरा को आगे बढ़ाया जा सकता है। साथ ही साथ विकास की गति में भी तेजी लाई जा सकती है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि अगर हम मिलकर आगे बढ़ेंगे, तो दोनों देश अपने नागरिकों के आस्था, विकास और रोजगार की संभावना पर कार्य कर सकते हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा को गुलाबी मीनाकारी से निर्मित गणेशजी की प्रतिमा, सिल्क का दुपट्टा और उनकी पत्नी धर्मपत्नी आरजू राणा देउबा को बनारसी सिल्क की साड़ी भेंट कर स्वागत, अभिनंदन और सम्मान किया।

You cannot copy content of this page