Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

बेहया हो गए बेटे : दिव्यांग पिता को घर से निकाला, पिटाई का आरोप, पुलिस के हस्तक्षेप पर पर भी महिलाओं ने घर में नहीं घुसने दिया

Varanasi : जिस बाप ने उंगली पकड़कर चलना सिखाया उसी को बेहया बेटों ने घर से बाहर निकाल दिया। दिव्यांग पिता ने पिटाई किए जाने का भी आरोप लगाया है। पुलिस के हस्तक्षेप पर घर की महिलाओं ने बुजुर्ग को घर में नहीं घुसने दिया।

आरोप के मुताबिक, सिगरा के चंदुआ छित्तूपुर न्यू लोकों कॉलोनी के पास 70 साल के बुजुर्ग उमेश चौहान को उनके बेटों ने पीटकर घर से बाहर निकाल दिया। उन्हें न्यू लोको कॉलोनी पानी टंकी के पास रोड किनारे ले जाकर छोड़ दिया। 70 साल के बुजुर्ग उमेश दिव्यांग हैं। बेटों की पिटाई से जख्मी हाल में वह लोगों से मदद की गुहार लगा रहे थे।

दिव्यांग उमेश के अनुसार, उनको तीन बेटे हैं। बड़े बेटे का नाम राहुल चौहान है। वह पांडेपुर में किराए पर रहता है। दूसरा बेटा राजा चौहान केरला में रहता है। तीसरा बेटा रवि चौहान चंदुआ छित्तूपुर चैन बाबा मंदिर के पास रहता है।

बुजुर्ग की स्थिति देखकर इलाकाई समाजसेवी दीपक गुप्ता और राजेंद्र शर्मा ने जानकारी विद्यापीठ चौकी इंचार्ज अश्विन राय को दी। सिगरा थाने के सिपाही धीरेंद्र यादव ने बुजुर्ग के घर जाकर समझाकर मामले को खत्म कराने की कोशिश की लेकिन घर की महिलाओं ने दिव्यांग बुजुर्ग को घर के अंदर के अंदर आने की इजाजत नहीं दी।

You cannot copy content of this page