Varanasi ऑन द स्पॉट 

भीख नहीं अधिकार चाहिये, जीने का सम्मान चाहिये : बालिकाओं ने भ्रूण हत्या बाल विवाह के खिलाफ रैली निकाली

Abhishek Tripathi

Varanasi : लोक समिति वाराणसी और आशा ट्रस्ट के संयुक्त तत्वाधान में सेवापुरी क्षेत्र के भोरकलां मनकईया गांव में बुधवार को लड़कियों ने कन्या भ्रूण हत्या,यौन उत्पीड़न, दहेज, बाल विवाह जैसे सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ रैली निकाली। रैली में शामिल लड़कियां,भ्रूण हत्या पर रोक लगाओ, बाल विवाह बंद करो, तिलक दहेज़ छोडो, जाती पाती तोड़ो, भीख नहीं अधिकर चाहिए, जीने का सम्मान चाहिए, औरत भी जिन्दा इंसान, नहीं भोग की वह सामान, ययौन हिंसा पर रोक लगाओ आदि नारे लगा रही थीं।

इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता तनुजा मिश्रा ने कहा कि हमारे संविधान ने सबको समान अधिकार दिए हैं लेकिन समाजिक ब्यवस्था के कारण महिलाओं और लड़कियों को बराबरी का अधिकार नहीं प्राप्त हो पा रहा है, इसलिए सामाजिक ब्यवस्था में बदलाव लाना जरुरी है। जिला पंचायत सदस्य आनंद पटेल ने कहा कि यौन शोषण बलात्कार के खिलाफ सख्त कानून बनने के बावजूद आये दिन लड़कियों और महिलाओं के साथ छेड़खानी बलात्कार घरेलू हिंसा की घटनाएं हो रही हैं जो कि सभ्य समाज के लिये बहुत चिंतनीय बात है।

ग्राम प्रधान ने ग्रामवासियों से लड़कियों को ज्यादा से ज्यादा पढ़ाने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की अपील किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ लोक समिति संयोजक नंदलाल मास्टर , जिला पंचायत सदस्य राजेन्द्र पटेल, तनुजा मिश्रा ने दीप जलाकर किया। कार्यक्रम में स्वागत आशा रानी अध्यक्षता राजकुमारी, संचालन विमला और सोनी ने किया।धन्यवाद ज्ञापन आशा राय ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से जिला पंचायत सदस्य राजेन्द्र पटेल, ग्रामप्रधान लढुवाई के आनन्द, नयापुर के ग्राम प्रधान श्यामधर पटेल, प्राथमिक विद्यालय मनकईया के प्रधानाचार्य प्रभाकर, अनीता, सोनी आदि ने अपने विचार रखा।

You cannot copy content of this page