Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

EVM बवाल प्रकरण : पकड़े गए आरोपी को मिली जमानत, 25-25 हजार रुपये की दो जमानत और बंधपत्र देने पर रिहा करने का आदेश

Varanasi : विधानसभा चुनाव में EVM बदलने की फैली अफवाह के बाद हुए बवाल के मामले में आरोपी को जमानत मिल गयी है। अपर सिविल जज (जू.डी.) एकादश\जेएम निधि पांडेय की अदालत ने कमलगढहा (जैतपुरा) निवासी आरोपी चांद बाबू उर्फ साहेब आलम को 25-25 हजार रुपये की दो जमानतें और बंधपत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया है।

अदालत में बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव, बृजपाल सिंह यादव और अजय पाल ने पक्ष रखा।अभियोजन पक्ष के मुताबिक, जैतपुरा थाना प्रभारी मथुरा राय 8 मार्च 2022 को पहड़िया मंडी में शांति व्यवस्था ड्यूटी में मौजूद थें, उसी दौरान सूचना मिली कि थाना क्षेत्र के छहमुहानी धनेसरा, कमलगढहा, गोलगड्डा, बड़ी बाजार, दोषीपुरा, कच्ची बाग, ख्वाजापुरा, काजी सादुल्लापुरा, उषमानपुरा, आगागंज आदि जगहों से सैकड़ों की तादाद में लोग नारा लगाते हुए गोलगड्डा तिराहे पर आ गये।

वाराणसी-चंदौली मुख्य मार्ग को अवरुद्ध कर धरना-प्रदर्शन करने लगे। इस मामले में पुलिस ने 11 मार्च 2022 को 40 नामजद सहित 600 अज्ञात के खिलाफ धारा 147, 352, 188, 332, 342, 353, 504 427 व 7 सीएलए एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की थी। इसी मामले में मंगलवार को आरोपी चांद बाबू उर्फ साहेब आलम को गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया।

बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ताओं ने दलील दी कि पुलिस ने सत्तापक्ष के दबाव में आकर रंजिशन मुकदमा लिख दिया है। पुलिस अपनी प्राथमिकी में चांद बाबू नामक व्यक्ति का उल्लेख किया है जबकि आरोपित का नाम साहेब आलम है। साथ ही यह भी दलील दी गई कि घटना के तीन दिन बाद पुलिस ने सूनियोजित तरीके से मनमाने तौर पर लोगों को नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज किया।

You cannot copy content of this page