Breaking Health Politics Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

पंडित दीन दयाल जिला चिकित्सालय में मिलीं खामियां : डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने CMS को लगाई फटकार, बोले- व्यवस्था दुरुस्त करें, लापरवाही पर छोडूंगा नहीं

Varanasi : डिप्टी सीएम बृजेश पाठक इस समय वाराणसी सहित आसपास के जिलों के दौरे पर हैं। शनिवार सुबह उन्होंने पंडित दीन दयाल उपाध्याय जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अस्पताल में अव्यवस्था और गंदगी पर अस्पताल के CMS आरके सिंह को जमकर फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि डॉक्टर साहब देख लीजिये वरना दोबारा छोडूंगा नहीं।

शनिवार की सुबह डिप्टी सीएम बृजेश पाठक औचक निरीक्षण पर जिला चिकित्सालय पहुंचे। अस्पताल के गेट से पैदल ही इंट्री की और सीधे सीएमएस के ऑफिस में पहुंचे गए। डिप्टी सीएम के आने की खबर सुन अस्पताल में हडकंप मच गया। इसके बाद डिप्टी सीएम ने एक-एक कर सभी अस्पताल के सभी विंग का जायजा लिया और गंदगी अव्यवस्था पर नाराज दिखे। उन्होंने मौके पर ही जिम्मेदारों को कसकर फटकार लगायी।

डिप्टी सीएम ने सबसे पहले इमरजेंसी का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने वहां जानकारी ली। इसके बाद एक कक्ष में एसी की वायर जमीन में पड़े होने पर सीएमएस आरके सिंह को उसे समय रहते सही कराने का निर्देश दिया। इसके बाद मरीजों के लिए बने शौचालय का निरीक्षण किया, जहां खुली वायर देखकर डिप्टी सीएम का पारा हाई हो गया और उन्होंने कहा कि ये ठीक क्यों नहीं हुआ। CMS ने कहा कि हो जाएगा। इसके बाद शौचालय में वाश बेसिन के न होने और यूरीनल पॉइंट में पाइप के न होने पर गहरी नाराजगी जताई। कहा कि यदि यह जल्द सही नहीं हुआ तो दोबारा नहीं छोडूंगा।

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक अस्पताल के ट्रामा सेंटर पहुंचे। उन्होंने कोरोना काल से बंद पड़ी डिजिटल एक्सरे मशीन के कक्ष को खोलने को कहा तो पता चला की चाभी टेक्नीशियन के पास है। इस बात की जानकारी होते ही डिप्टी सीएम का पारा हाई हो गया और उन्होंने सीएमएस डॉ. आरके सिंह की क्लास लगा डाली। उन्होंने कहा कि किसी भी विंग के एक अधीक्षक होता है। चाभी अधीक्षक के पास होनी चाहिए तो किस वजह से टेक्नीशियन के पास है।

इसके बाद बनकर तैयार हो चुके मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर को भी देखा और उसे हैंडओवर करने के सम्बन्ध में जानकारी भी ली। इसके बाद उन्होंने वहां पहुंच कर मरीजों से हाल चाल लिया। उनसे उनकी बीमारी और इलाज के बारे में पूछा। इस दौरान अपना इलाज करवा रहे मरीज राम सिंह यादव (40) की सारी डीटेल अपने पीएसओ से नोट करवाई और डॉक्टर से बताया कि इनका बेहतर इलाज किया जाए हमारे द्वारा इसे मॉनिटर किया जाएगा।

अस्पताल के कार्यालय में निरीक्षण कर रहे डिप्टी सीएम को खिड़की पर पान की पीक दिखी तो एक बार फिर उन्होंने सीएमएस को आड़े हाथ लिया और पूछा कि ऑफिस में कौन पान खाता है। इसपर उन्होंने कहा कि कई लोग आते हैं। इसपर डिप्टी सीएम ने सख्त आदेश देते हुए कहा कि यदि कोई पान खाते नजर आये तो उसपर जुर्माना करें।

उन्होंने अस्पताल के मेडिकल स्टोर में भी निरीक्षण किया और वहां प्रभारी से जानकारी ली। पूछा कि क्या डॉक्टर्स बाहर की दवाएं लिखते हैं तो प्रभारी ने कहा हां कभी-कभी लिखी जाती। इस दौरान डिप्टी सीएम ने किसी भी तरह की कोई बात नहीं की। डिप्टी सीएम वहां से अपनी सरकारी गाड़ी को ड्राइव करके वापस सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए।

You cannot copy content of this page