Breaking Crime Varanasi पूर्वांचल 

गोली चलने के बाद भागने वाली युवती और दो लोगों के खिलाफ FIR : कबाड़ कारोबारी के बेटे की लाश रखकर लोगों ने रोड किया जाम, अफसरों के समझाने पर माने

Varanasi : नवलपुर बसहीं में संदिग्ध हाल में गोली लगने से कबाड़ कारोबारी के बेटे की हुई मौत के मामले में बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शाम तकरीबन 5 बजे लाश रख कर परिवार के लोगों ने रोड जाम कर दिया। पहुंचे ACP कैंट रत्नाकर सिंह और SHO शिवपुर सुनील कुमार ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया।

याद होगा, नवलपुर बसहीं में मंगलवार की सुबह हुक्काबार संचालक अजय कुमार गुप्ता (25) की संदिग्ध हाल में गोली लगने से मौत हो गई थी। अजय के भाई अक्षय की तहरीर पर पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ नामजद और एक अज्ञात युवती के विरुद्ध FIR लिखा है। पुलिस दो आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद अजय की लाश को घर के सामने रख कर परिवार के लोग रोड पर बैठ गए। जानकारी मिलते ही ACP कैंट, SHO शिवपुर फोर्स के साथ पहुंचे। अफसरों के मनाने पर तकरीबन घंटे भर बाद जाम खत्म हुआ।

दिमाग पर बल दें तो याद आएगा कि कबाड़ कारोबारी के बेटे अजय कुमार गुप्ता की संदिग्ध हाल में गोली लगने से मौत हो गई थी। ACP कैंट रत्नाकर सिंह ने बताया कि, वारदात के वक्त बड़ा भाई अक्षय बाहर के कमरे में झाड़ू लगा रहा था। अजय के साथ दो युवक और एक युवती एक कमरे में मौजूद थे। अचानक गोली चलने की आवाज सुनाई दी। दोनों लड़के और युवती तेजी से बाहर की तरफ निकले। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, कबाड़ कारोबारी भरतलाल गुप्ता का नवलपुर बसहीं में पुराना मकान है। सड़क के दूसरी तरफ एक और मकान निर्माणाधीन है। इसी मकान में अवैध रूप से हुक्का बार का संचालन होता था। कारोबारी के बेटे अजय ने कारोबार के लिए कुछ लोगों से पांच लाख रुपये कर्ज लिया था। मंगलवार सुबह अजय दो युवक और एक युवती के साथ कमरे में मौजूद था। बगल के कमरे में उसका भाई झाड़ू लगा रहा था। बाहर पिता भरतलाल बोरे में गिट्टी भर रहे थे।

अचानक गोली चलने की आवाज सुनकर पिता सन्न रह गए। दोनों युवक और युवती तेजी से बाहर निकले। बड़ा भाई अक्षय भागकर बाहर आया और बताया कि अजय को गोली लगी है। सिर में गोली लगने से अजय लहुलूहान हो गया था। परिजन ऑटो रिक्शा से उसे पास के अस्पताल ले गये।

वहां से रेफर करने पर मलदहिया स्थित एक निजी अस्पताल ले गये। चिकित्सकों ने उसे मृत बता दिया। पुलिस ने लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। उधर, घर पर पहुंचे पुलिस अफसरों ने कमरे का ताला तुड़वाया था। फोरेंसिक टीम पहुंची थी। साक्ष्य जुटाये थे।

You cannot copy content of this page