Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

जल निगम के अभियंता और ठेकेदार पर FIR : 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरे किशोर की मौत, DM बोले- जिम्मेदारों पर होगी सख्त कार्रवाई

Varanasi : बिंदा गांव में 13 साल का किशोर अनिकेत यादव 200 फीट गहरे बोरवेल में गिर पड़ा। तकरीबन घंटे भर बाद उसे बाहर तो निकाल लिया गया मगर जान नहीं बच सकी। अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। साढ़े तीन फीट चौड़ा यह बोरवेल जल निगम ने खोदवाया था। पानी न मिलने पर उसे खुला ही छोड़ दिया था। हादसे के बाद पहुंचे जल निगम के अभियंता, ठेकेदार का घेराव करते हुए लोगों ने जमकर हंगामा किया।

दरअसल, बिंदा गांव के राधेश्याम यादव का बेटा अनिकेत गांव के बाहर अपने दोस्तों के साथ खेलते हुए बोरवेल के पास पहुंच गया। खेलने की धुन में बोरवेल का ध्यान नहीं रहा और वह उसी में चला गया। साथ के बच्चे शोर मचाते हुए गांव में आए। घरवालों को जानकारी दी। पहुंचे लोगों को कुछ देर तक समझ में नहीं आया कि इतने संकरे बोरवेल में कैसे उतरा जाय। इस बीच अनिकेत का चचेरा भाई धर्मेंद्र रस्सी के सहारे नीचे उतरा और करीब 70 फीट पर उतराए अनिकेत को बाहर निकाल लाया। उसे तुरंत प्राथमिक स्वास्थ्य केमद्र ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। अनिकेत तीन भाइयों और तीन बहनों में चौथे नंबर पर था। वह कक्षा पांच में पढ़ता था।

जल निगम ने हर घर नल योजना के तहत गांव में हफ्ते भर पहले नलकूप के लिए बोरिंग कराई थी। वहां पानी न मिलने पर बोरिंग को खुला छोड़ दिया गया था जो बुधवार को जानलेवा साबित हुआ। इस लापरवाही से क्षुब्ध लोहों ने जमकर हंगामा किया। वे मुआवजे की मांग कर रहे थे। पहुंची फूलपुर पुलिस को भी आक्रोश का सामना करना पड़ा। बाद में अनिकेत की मां की तहरीर पर जल निगम के अभियंता और ठेकेदार के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ। डीएम कौशलराज शर्मा का कहना है कि बोरवेल खोदकर छोड़ देना विभाग का आपराधिक कृत्य है। इस मामले में जिम्मेदारों के खिलाफ कानूनी और प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।

You cannot copy content of this page