Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

पुलिस और बदमाशों के बीच फायरिंग का मामला : भाग निकले तीन बदमाश, सदानंद के दाहिने पैर में गोली लगी, असलहा, कारतूस और खोखा मिला

Varanasi : नेशनल इंटर कॉलेज मैदान के सामने सोमवार को दिनदहाड़े अमन यादव की हत्या में नामजद केराकत जौनपुर के कटहरी निवासी शातिर अपराधी 25 हजार के इनामी हिस्ट्रीशीटर सदानंद उर्फ झग्गड़ यादव को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया है।

करखियांव स्थित एक दूध फैक्ट्री के पास शुक्रवार रात तकरीबन 10.30 बजे पुलिस और बदमाशों के बीच फायरिंग हुई थी। सदानंद के दाएं पैर में गोली लगी है।

सदानंद पर हत्या, लूट, डकैती सहित कई अन्य अपराध में नौ मुकदमे दर्ज हैं। आठ मुकदमे जौनपुर के जलालपुर, केराकत थाने में हैं।

दरअसल, शुक्रवार रात फूलपुर पुलिस गश्त पर थी। पता चला कि हत्या में शामिल सदानंद साथियों के साथ एसयूवी से बाबतपुर से करखियांव आ रहा है।

फूलपुर, बड़ागांव और ग्रामीण एरिया की क्राइम ब्रांच टीम ने करखियांव गेट के पास घेराबंदी की। खुद को घिरता देख बदमाशों ने बोलेरो रोकी। तीन बदमाश खेत से होकर भाग निकले।

सदानंद ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। बुलेट प्रूफ जैकेट के कारण फूलपुर एसओ अभिषेक राय बाल-बाल बच गए। जवाबी कार्रवाई में सदानंद को दाहिने पैर में गोली लगी।

गोली लगते ही वह गिर गया। उसके पास से 32 बोर का असलहा, तीन खोखा और एक कारतूस मिला है। मुठभेड़ की जानकारी पर एसपी सूर्यकांत त्रिपाठी, एएसपी नीरज पांडेय पहुंचे।

जख्मी बदमाश को पिंडरा पीएचसी ले जाया गया। मुठभेड़ में सीओ पिंडरा डॉ. अतुल अंजान त्रिपाठी, फूलपुर थाना प्रभारी अभिषेक राय, बड़ागांव थाना प्रभारी निरीक्षक अश्वनी चतुर्वेदी, उप निरीक्षक अजय यादव, योगेंद्र यादव, एसओजी के सिपाही रामशंकर यादव, चंद्रसेन सिंह, कुलदीप सिंह आदि पुलिसकर्मी शामिल थे।

You cannot copy content of this page