Breaking Crime Varanasi ऑन द स्पॉट पूर्वांचल 

BJP नेता के हत्यारों पर लगेगा गैंगस्टर : लापरवाही पर चौकी इंचार्ज सहित नौ पुलिसकर्मी नपे, पुलिस ने अबतक इतने लोगों को उठाया

Varanasi : जयप्रकाश नगर कॉलोनी में मंगलवार की रात हुई भाजपा नेता की हत्या को शासन और डीजीपी ने गंभीरता से लिया है। इस मामले में पुलिस आयुक्त ए. सतीश गणेश ने बड़ी कार्रवाई की है।

समय रहते असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप में पुलिस कमिश्नर ने नगर निगम के चौकी प्रभारी समेत नौ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है।

सस्पेंड होने वाले पुलिसकर्मियों में नगर निगम चौकी प्रभारी नीरज ओझा, दरोगा ललित पांडेय, हेड कांस्टेबल देवी यादव, अनूप राय, मोहन कुमार, कांस्टेबल रामअवतार, नितिन, सुधांशु और दिनेश को पुलिस लाइन से संबद्ध कर दिया गया है।

वहीं, दूसरी ओर भाजपा नेता के छोटे बेटे राजन की ओर से 17 लोगों के खिलाफ सिगरा थाने में मुकदमा पंजीकृत कराया गया है। इसमें से पांच युवकों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि इस मामले में नामजद अन्य हमलावरों की भी शीघ्र गिरफ्तारी कर ली जाएगी। इसके लिए पांच टीमें लगातार उनके घरों और अन्य ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि प्राथमिकता के आधार पर रात में है पशुपति सिंह का पोस्टमार्टम करा डेड बॉडी परिजनों को सौंप दी गई है।

दरअसल, बुधवार की रात सिगरा थाना क्षेत्र के जयप्रकाश नगर में मनबढ़ युवकों ने पशुपतिनाथ और उनके बेटे पर जानलेवा हमला कर दिया था।

35 से 40 की संख्या में पहुंचे हमलावरों ने घटना को अंजाम सिर्फ इसलिए दिया कि पिता-पुत्र ने उन्हें घर में ही मौजूद शराब ठेके पर सेल्समैन के साथ मारपीट करने से रोका था।

हाकी-डंडे, ईंट-पत्थर से हुए हमले में राजकुमार को गंभीर चोट लगी है। वह बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती है।

घटना से भाजपा नेताओं में जबरदस्त नाराजगी है। स्वजनों को आरोप है कि सिगरा थाने की पुलिस ने भाजपा नेता पर हमला की सूचना को गंभीरता से नहीं लिया।

You cannot copy content of this page