Breaking Education Exclusive Varanasi पूर्वांचल 

IIT BHU का 11वां दीक्षांत समारोह 10 को : 54 मेधावियों में बटेंगे 105 मेडल, 1497 छात्रों को भी मिलेगी डिग्री

Varanasi : IIT-BHU का 11वां दीक्षांत समारोह 10 अक्टूबर को होगा। कल सुबह 9 बजे से स्वतंत्रता भवन में रिहर्सल शुरू हो जाएगी। प्रथ्वी, प्रहार, धनुष और अग्नि समेत कई अत्याधुनिक मिसाइल की तकनीक पर काम करने वाले DRDO (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन), नई दिल्ली के पूर्व सेक्रेट्ररी पद्मभूषण डॉ. विजय कुमार सारस्वत कार्यक्रम के चीफ गेस्ट होंगे। दीक्षांत समारोह में डायरेक्टर्स मेडल के लिए ईशिता अस्थाना का सेलेक्शन किया गया है। ईशिता अमेठी की रहने वाली हैं। उन्होंने IIT-BHU से 2018 में इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में B-Tech किया है।


आईआईटी बीएचयू के निदेशक प्रो.प्रमोद कुमार जैन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि समारोह में 791 बीटेक, 271 आईडीडी, 299 एमटेक/एमफार्मा और 42 एमएससी छात्रों को विभिन्न उपाधियों से सम्मानित किया जाएगा। दीक्षांत समारोह में 94 से अधिक शोधार्थियों को भी डिग्री दी जाएगी। संस्थान स्तर पर तैयारियां पूरी हो गई हैं। कोरोना संक्रमण कम होने के बाद इस साल पिछले साल की तुलना में भव्य समारोह की तैयारी चल रही है। मुख्य समारोह के एक दिन पहले नौ अक्तूबर को रिहर्सल भी होना है।

श्लोका नेगी को राष्ट्रपति स्वर्ण पदक, इशिता को निदेशक स्वर्ण पदक

निदेशक ने बताया कि इस वर्ष दो छात्राओं को सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट उपलब्धियां हासिल करने पर प्रेसीडेंट्स (राष्ट्रपति) स्वर्ण पदक और डाइरेक्टर्स (निदेशक) स्वर्ण पदक दिया जाएगा। संस्थान में बीटेक स्तर पर शैक्षणिक क्षेत्र में संपूर्ण उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए सुश्री श्लोका नेगी, बीटेक, फार्मास्युटिकल्स इंजीनियरिंग एवं टेक्नोलॉजी को प्रेसीडेंटस स्वर्ण पदक से सम्मानित किया जाएगा। सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन और संगठनात्मक व नेतृत्व क्षमता प्रदर्शित करने के लिए इशिता अस्थाना, बीटेक (इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग) को डायरेक्टर्स स्वर्ण पदक से विभूषित किया जाएगा। आईआईटी बीएचयू के दीक्षांत समारोह में इस बार मेधावी छात्रों के साथ-साथ पुरातन छात्रों को भी अवॉर्ड दिया जाएगा। अलग-अलग क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने वाले सात पुरातन छात्रों का चयन किया गया है।

You cannot copy content of this page